State Bank of Mysore

Trusted Service

Citizen's Charter

ग्राहक बैंकर संबंधी सामान्‍य क्षेत्र

अपने ग्राहक को जानिए (के वाई सी मानदंड) सामान्‍य मार्गदर्शन

 

संभावित ग्राहकों, आम जन और स्‍वयं को, धोखा एवं बैंकिंग प्रणालियों के दुरुपयोग से बचाने के लिए केवाईसी मानदंड आवश्‍यक है।

किसी भी प्रकार के जमा खाता खोलने के लिए (अर्थात् – बचत बैंक, चालू खाता और सावधि जमाराशि) आवेदन को केवाईसी मानदंडों का पालन करना आवश्‍यक है। पहचान व पता साक्ष्‍यों की प्रस्‍तुति मूलभूत आवश्‍यकता है।

 

निम्‍न सूचितों में से किसी एक दस्‍तावेज़ को प्रस्‍तुत किया जाना आवश्‍यक है:

सूची 1: पहचान साक्ष्‍य

क.    पता सहित पासपोर्ट

ख.    मतदाता पहचान कार्ड

ग.     पैन (पीएएन) कार्ड

घ.     सरकार/ डिफेंस पहचान कार्ड

ङ.      प्रतिष्ठित नियोजक से जारी पहचान कार्ड

च.     चालक लाईसेंस

 

सूची 2: पता साक्ष्‍य

क.    क्रेडिट कार्ड विवरण

ख.    बिजली बिल

ग.     वेतन पर्ची

घ.     आय कर/ संपत्ति कर मूल्‍यांकन की प्रति

ङ.      टेलीफोन बिल

च.     बैंक विवरण

छ.    प्रतिष्ठित नियोजक से पत्र

 

बैंक को जानकार व्‍यक्ति या वर्तमान खाताधारी से परिचय प्रस्‍तुत करना है। चेक परिचालित खाते के लिए मात्र यह आवश्‍यक नहीं है परंतु मीयादी जमा रसीद/ पुनर्निवेश जमा/ बचत बैंक/ चालू खाता और आवर्ती जमा खाता इत्‍यादि सभी प्रकार के खातों के लिए आवश्‍यक है।

 

बैंक की संतृप्ति में चेक बुक रहित खाता खोलने के लिए सरकारी विभाग या अन्‍य फैक्‍टरी/ शैक्षिक संस्‍था/ अस्‍पताल/ नगरपालिका/ रक्षा सेवा/ पुलिस आदि द्वारा जारी पहचान कार्ड और पासपोर्ट द्वारा भी परिचय दिया जा सकता है।

 

ग्रामीण क्षेत्रों में, ग्राम के प्रधान/ सरपंच या ग्राम लेखाकार से भी परिचय प्राप्‍त कर सकते हैं। खाता खोलने के लिए आवेदक को अपनी एक वर्तमान छायाचित्र के साथ बैंक की शाखा में चाहिए और बैंक अधिकारी के सामने तत्‍संबंधित स्‍थानों पर हस्‍ताक्षर करना होता है। परिचयकर्ता को भी आवेदन फार्म पर हस्‍ताक्षर करने हेतु आवश्‍यकता पर शाखा में आना होगा।

पहचान साक्ष्‍य न रहने वाले ग्राहकों के सुविधार्थ, एक सरल खाता खोला जा सकता है जहां प्रत्‍येक वर्ष में, खाता शेष रु. 50,000 से अनधिक हो और जमा रु. 2,00,000 से अधिक न हो। उपरोक्‍त सीमा पार करने पर, ऊपर सूचितानुसार ग्राहक को केवाईसी मानदंडों का पालन करना होगा।

 

यदि ग्राहक अपने घनिष्‍ठ रिश्‍तेदार के साथ रहते हैं, तो घनिष्‍ठ रिश्‍तेदार के पता साक्ष्‍य को, खाता खोलने के इच्‍छुक व्‍यक्ति, उनका रिश्‍तेदार होने और उनके साथ वास करने के संबंध में रिश्‍तेदार से घोषणा पत्र प्राप्‍त कर प्रस्‍तुत किया जा सकता है।

खाता खोलने वाले व्‍यक्ति से आयकर अधिनियम के अनुसार पैन (पीएएन) अथवा सामान्‍य सूची रजिस्‍टर संख्‍या (जीआईआर) अथवा विकल्‍प्‍ में फार्म 60 अथवा 61 द्वारा घोषणा स्‍वीकारा जा सकता है।

 

बचत बैंक खाता

व्‍यक्तियों में बचत की आदत डालने की दृष्टि से इस खाते को रूपित किया गया है। इस खाते से नकद/ चेक/ आहरण पर्चियों द्वारा राशि जमा/ आहरण किए जा सकते हैं। इससे ब्‍याज अर्जित करने के अलावा ग्राहकों को अत्‍यंत कम राशि घर में रखने में सहायता मिलती है।

 

बचत बैंक खाता बहुत जनप्रिय है। इस खाते को पात्र व्‍यक्ति/ व्‍यक्तियों और कुछेक संस्‍था/ एजेंट द्वारा (भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा अनुमोदितानुसार) खोला जा सकता है।

 

बैंक द्वारा समय-समय पर सूचितनुसार खाताधारी को अपने खाते में न्‍यूनतम राशि अनुरक्षित करना अपेक्षित है। न्‍यूनतम शेषज्ञ का अनुरक्षण न करने से सेवा प्रभार लगाया जाएगा।

वर्तमान में जनवरी और जुलाई महिने के प्रथम दिन, अर्ध- वार्षिकी के आधार पर 3.5% ब्‍याज प्रदत्‍त है। देय न्‍यूनतम ब्‍याज रु. 1 है। खाते में महिने की 10 तारीख और अंतिम कार्य दिवस के बीच अनुरक्षित न्‍यूनतम शेष पर ब्‍याज परिकलित किया जाएगा।

खाताधारकों को चेक पुस्तिका की सुविधा उपलबध है। प्रथम 25 पन्‍ने वर्ष में नि:शुल्‍क दिए जाएंगे और उसके बाद प्रति चेक पन्‍ने पर, बैंक द्वारा समय- समय पर निर्धारित प्रभार वसूला जाएगा।

आहरण फार्म या चेक पन्‍नों का उपयोग कर, खाते से आहरित किया जा सकता है। तथापि, रु. 5000 से अधिक राशि को चेक के जरिए मात्र आहरण किया जाना है।

 

सार्वजनिक, जो बैंकिंग सेवा चाहते हैं परंतु किसी भी प्रकार के पता या पहचान साक्ष्‍य को प्रस्‍तुत करने में असमर्थ हैं और न्‍यूनतम शेष को अनुरक्षित नहीं कर सकते हैं, के सुविधार्थ ‘सरल बचत बैंक’ खोला जा सकता है जिसमें अपेक्षित न्‍यूनतम शेष्‍ज्ञ रु. 10/- है। तथापि खाते में कोई एटीएम कार्ड जारी नहीं किया जाएगा और प्रति माह आहरण 4 तक प्रतिबंधित रहेगा। वर्ष 10 पन्‍नों तक चेक पुस्तिका प्रतिबंधित है। खाते में कुल शेष रु. 10,000 से अधिक होने पर उसे सामान्‍य बचत बैंक खाते में उन्‍नयन किया जाएगा। अगर खाता 12 महिनों तक परिचालित नहीं हो, तो रु. 20/- प्रभार डालते हुए या खाते में उपलब्‍ध शेष, जो भी कम हो, के साथ खाता बंद किया जाएगा। सरल खाते को (नो फ्रिल खाते) सभी केंद्रों में खोला जा सकता है।

 

चालू खाता

चालू खाता, व्‍यक्तिगत, साझेदारी फर्म, निजी और सार्वजनिक लिमिटेड कंपनी, हिंदू अविभक्‍त परिवार/ विनिर्दिष्‍ट सहयोगी, सोसायटी, न्‍यास आदि द्वारा खोला जा सकता है।

खाता खोलने वाले व्‍यक्ति/ व्‍यक्तियों से, आयकर अधिनियमानुसार, स्थायी खाता संख्‍या (पीएएन) अथवा सामान्‍य सूची रजिस्‍टर संख्‍या (जीआईआर) अथवा विकल्‍प में फार्म 60 अथवा 61 प्राप्‍त करना आवश्‍यक है।

बैंक द्वारा भारतीय रिज़र्व बैंक के निदेशानुसार, खाता खोलने/ परिचालित करने वाले व्‍यक्ति/ व्‍यक्तियों का हाल ही में लिया गया छायाचित्र प्राप्‍त किया जाना है।

 

समय-समय पर सूचित न्‍यूनतम शेष को अनुरक्षित करना आवश्‍यक है।

 

चालू खाते में जमा शेष पर कोई ब्‍याज देय नहीं है।

 

निम्‍नलिखितों पर सेवा प्रभार लगाया जा सकता है-

¨      खाता अनुरक्षण

¨      चेक पुस्तिका जारी करना

¨      न्‍यूनतम शेष अनुरक्षित न करना

¨      चेक वापसी, निर्धारित सीमाओं से अधिक नकद संभालना, इत्‍यादि

 

विशेष प्रकार के चालू खातों को खोलने के लिए, अर्थात निष्‍पादक, प्रशासक, न्‍यासी, परिसमापक इत्‍यादि के लिए शाखा प्रबंधक से संपर्क करें जो खाता खोलने में मदद करेंगे।

 

साझेदारी फर्म, सार्वजनिक/ प्राईवेट लिमिटेड कंपनी, हिंदू अविभक्‍त परिवार/ सोसायटी/ न्‍यास आदि भी अपने संघटन/ क्रियाकलाप आदि से संबंधित दस्‍तावेज़ों को खाता खोलते समय प्रस्‍तुत करना होगा।

 

खाता खोलते समय आवेदक को अन्‍य बैंक/ शाखाओं में रहे उसके किसी प्रकार के खाता/ ऋण विवरणों को पूर्ण रूप से प्रकट करना चाहिए।

 

सावधि जमा खाता

बैंक ने समाज के हर निवेशकर्ता/ जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए विभिन्‍न जमा योजनाओं को आरंभ किया है।

 

सावधि जमा खातों को व्‍यक्ति, साझेदारी फर्म, निजी और सार्वजनिक लिमिटेड कंपनियां, हिंदू अविभक्‍त परिवार/ विनिर्दिष्‍ट सहयोगी, आदि खोल सकते हैं।

 

बैंक, सावधि जमाओं के ब्‍याज दरों को समय-समय पर प्रकट करता है।

 

बैंक नीति के अनुसार जमाराशियों को समयपूर्व आहरण अनुमेय है। 30 दिनों से कम अवधि में जमाराशियों के समयपूर्व आहरण पर कोई ब्‍याज नहीं दिया जाएगा।

 

सामान्‍यत: सरकार/ भारतीय रिज़र्व बैंक/ बैंक द्वारा अननुमत उन जमाराशियों को छोड़कर अन्‍य जमा‍राशियों पर अतिदेय/ ऋण अनुमेय है। इस प्रकार के ऋणों पर, बैंक द्वारा समय- समय पर निर्धारित दरों पर ब्‍याज प्रभारित किया जाता है।

 

बैंक द्वारा समय-समय पर निर्धारितानुसार, वरिष्‍ठ नागरिक, उच्‍चतर ब्‍याज दर के लिए पात्र हैं।

 

खाता शुरुआती अवधि के लिए जमाराशि, देय तारीख पर अपने आप नवीकृत हो जाती है।

 

यदि जमाराशियों पर(प्रति शाखा) ब्‍याज, आयकर नियम के अनुसार अधिकतम सीमा पार करता है जो वह विनिर्दिष्‍ट दर पर स्रोत से कर कटौती के अधीन होगा।

 

प्रति वित्‍तीय वर्ष के आरंभ में जमा राशि पर कर की कटौती के बिना ब्‍याज प्राप्‍त करने हेतु निवेशकर्ता को फार्म संख्‍या 15एच एवं 15जी प्रस्‍तुत करना चाहिए।

 

काटे गए कर के लिए, बैंक द्वारा स्रोत पर कर कटौती प्रमाण पत्र दिया जाता है।

रु. 20, 000 से अधिक जमाराशि का नकद भुगतान नहीं किया जाएगा।

 

कोर क्षमता

 

ग्राहकों को ‘एनीवेयर बैंकिंग’ सुविधा उपलब्‍ध है। वे अपने बैंकिंग व्‍यवहारों को हमारी किसी भी शाखा में संचालित कर सकते हैं। वे हमारी किसी भी शाखा में नकद/ चेक जमा, नकद आहरण और विप्रेषण कर सकते हैं। योजना प्रभारों की अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाईट देखें।

 

जमाराशियों पर ब्‍याज

विभिन्‍न योजनानुसार बैंक जमा‍राशियों पर ब्‍याज देता है। समय-समय पर ब्‍याज दरों को संशोधित कर सार्वजनिकों को सूचना देता है। संशोधित ब्‍याज दरें, नवीकरणों पर और नई जमाराशियों पर लागू होती हैं, जबकि वर्तमान जमा‍राशियों पर संविदा ब्‍याज दरें जारी रहेंगी।

बैंक की जमा नीति के अनुसार जमाराशियों को स्‍वीकार किया जाता है जिसे बैंक वेबसाईट पर प्रदर्शित किया जाता है।

 

स्‍थायी अनुदेश

एक ही शाखा में अनुरक्षित एक खाते से दूसरे खाते में, बैंक के किसी अन्‍य शाखा अथवा किसी अन्‍य बैंक या अन्‍य पार्टी के बीच में निधि अंतरण/ विप्रेषण हेतु बैंक को स्‍थायी आदेश दिया जा सकता है। स्‍थायी अनुदेश नोट करने और विप्रेषण हेतु प्रभार से संबंधित जानकारी, शाखा या वेबसाईट से प्राप्‍त कर सकते हैं।

 

सुरक्षा जमा लॉकर

सुरक्षा जमा लॉकर की सुविध बैंक द्वारा प्रदत्‍त अनुषंगी सेवा है। इस सुविधा प्रदत्‍त शाखाएं लॉकरों के परिचालन जगह पर इन सूचनाओं को सूचित/ प्रदर्शित करती हैं:

¨      लॉकर, व्‍यक्तियों द्वारा (नाबालिग छोड़कर), फर्म, लिमिटेड कंपनी, विनिर्दिष्‍ट संघ और सोसायटियों इत्‍यादि द्वारा किराए पर लिए जा सकते हैं।

¨      सुरक्षा जमा लॉकर के वैयक्तिक किराएदार को नामांकन सुविधा उपलब्‍ध है।

¨      चाबी खो जाने की सूचना तत्‍काल बैंक को देनी चाहिए।

¨      विभिन्‍न माप के लॉकर उपलब्‍ध हैं।

¨      न्‍यूनतम एक वर्ष की अवधि के लिए लॉकर किराए पर दिए जाते हैं। किराया अग्रिम रूप से देय है। अतिदेय किराए के संदर्भ में, समय-समय पर बैंक द्वारा निर्धारित दंड प्रभारित किया जाता है।

¨      यथोचित रूप से परिचय कराए गए व्‍यक्तियों को मात्र बैंक द्वारा लाकर दिया जाता है।

¨      बैंक नियमानुसार सूचना देने के बावजूद भी यदि किराए का भुगतान नहीं किया जाता है तो वसूली हेतु उसे तोड़कर खोलने का अधिकार बैंक अपने पास रखता है।

¨      किराए का भुगतान करने के बावजूद भी यदि एक वर्ष तक लॉकर का परिचालन नहीं करने पर, साक्षी के सम्‍मुख लाकर तोड़ा जाएगा।

 

सुरक्षा अभिरक्षा में वस्‍तु

कतिपय शाखाओं में, शेयर, प्रतिभूति आदि जैसी वस्‍तुओं को निर्धारित प्रभारों पर बैंक की सुरक्षा अभिरक्षा में रखा जा सकता है। बड़े/ छोटे बक्‍सों को ग्राहक ताला लगाकर रखना चाहिए और विवरणों को उसके ऊपर लिखना/ पेंट करना चाहिए/ ताला मोटे कपड़े में लपेटकर, ग्राहक के सील सहित बंद किया जाना चाहिए। बेंक और ग्राहक का संबंध बेलर और बेली का होना चाहिए। शाखा में उपलब्‍ध जगह के आधार पर सुविधा रहेगी। फिर भी, हमारी सभी शाखाओं में, नि:शुल्‍क सुरक्षा अभिरक्षा हेतु जमा रसीदों को स्‍वीकारा जाता है।

 

नामांकन

सभी जमा खाता, सुरक्षा अभिरक्षा में रही वस्‍तु और सुरक्षा जमा लॉकरों के लिए नामांकन सुविधा उपलब्‍ध है।

 

वैयक्तिक नाम पर खोले गए खातों के लिए नामांकन सुविधा उपलब्‍ध है (अर्थात एकल/ संयुक्‍त खाता तथा एकल स्‍वामित्‍व के लिए मात्र) अर्थात प्रतिनिधि हैसियत में खोले गए खातों के लिए यह सुविधा उपलब्‍ध नहीं है।

 

नामांकन एक व्‍यक्ति के पक्ष में मात्र कर सकते हैं। खाताधारी द्वारा नामांकन करना, रद्द करना या बदला जा सकता है। नामांकन करते समय, रद्दीकरण या बदलते समय साक्षी अपेक्षित है और अनुरोध पर सभी खाताधारियों का हस्‍ताक्षर आवश्‍यक है। नाबालिगों के पक्ष में भी नामांकन किया जा सकता है। तथापि नाबालिग की ओर से जो धन प्राप्‍त करता है उनका नाम सूचित करना होगा।

वर्तमान खातों के लिए जिसका नामांकन नहीं किया गया है, खाताधारी, शाखाओं में उपलब्‍ध फार्म को भरकर नामांकन कर सकते हैं।

ग्राहक, यदि अब तक नामांकन नहीं किया है तो उन्‍हें यह सुविधा प्राप्‍त करने के लिए पूरा सहयोग दिया जाता है।

 

मृत ग्राहक के खातों से उत्‍तरजीवी/ दावेदार को शेष का भुगतान

 

यदि नामांकन नहीं किया गया है तो दावों के निपटारे हेतु बैंक सरल प्रक्रिया को अपनाता है। यदि जमाकर्ता, निर्वसीयत मर जाते हैं, स्‍टांप्‍ड क्षतिपूर्ति एवं शपथपत्र के अधार पर मृत ग्राहक के खाते में रही शेष को उनके विधिक हकदारों को भुगतान किया जाता है। यदि खातों में रु. 10,000/- से कम शेष हो तो दावे को बिना स्‍टांप के क्षतिपूर्ति एवं शपत्र पत्र के साथ निपटाया जाता है।

पेंशन भुगतान

केंद्र और राज्‍य सरकारों के पेंशनर, हमारी किसी भी शाखाओं में अलग पेंशन खाता खोल सकते हैं।

पेंशनरों से अनुरोध किया जाता है कि वर्ष में एक बार जीवन प्रमाण पत्र प्रस्‍तुत करें (नवंबर माह में) ताकि शाखाएं बिना किसी अड़चन/ विलंब के पेंशन का भुगतान कर सकें।

 

बैंक द्वारा महिने के अंतिम चार कार्यदिवस के दौरान पेंशनर के बचत बैंक अथवा चालू खाते में पेंशन को जमा किया जाएगा। मार्च माह के पेंशन को अप्रैल माह की 1 तारीख को अथवा बाद में जमा किया जाएगा। पेंशन नकद रूप में नहीं प्रदत्‍त है। समय-समय पर हर एक पेंशनर को विवाह/ पुनर्विवाह/ बेरोजगारी प्रमाण पत्र प्रस्‍तुत करना वांछनीय है।

बैंक मानदंडानुसार, पेंशनर अपने चिकित्‍सा खर्चों के लिए ऋण ले सकते हैं।

 

विपेषण सेवाएं

ग्राहक, मांग ड्राफ्ट या तार अंतरण, आरटीजीएस, एनइएफटी या स्‍टेट बैंक समूह भुगतान अंतरण प्रणाली (एसबीजीआरपीटी) द्वारा एक केंद्र से दूसरे केंद्र में बैंक नियमों के अनुसार निर्दिष्‍ट प्रभार भुगतान कर, निधि को विप्रेषित कर सकते हैं।

आरटीजीएस द्वारा रु. 1.00 लाख से अधिक निधि और एनईएफटी द्वारा रु. 1.00 लाख से कम निधि विप्रेषित की जा सकती है। स्‍टेट बैंक समूह की शाखाओं के बीच में निधि विप्रेषण, एसबीजीआरपीटी द्वारा किया जा सकता है।

रु. 50,000 या उससे अधिक के प्रेषणों को ग्राहकों के खाते में नामे डालने या चेकों के प्रति या खरीदार द्वारा दिए गए विलेखों के प्रति अदा किया जाएगा, न कि नकद भुगतान के जरिए। उसी प्रकार रु. 50,000 और उससे अधिक के भुगतानों को बैंकिंग माध्‍यमों से किया जाएगा न‍ कि नकदी द्वारा।

प्रेषणों के लिए इंटरनेट बैंकिंग सेवाओं का भी सदुपयोग किया जा सकता है।

 

अनुलिपि ड्राफ्ट जारी करना

रु. 10,000 तक के मांग ड्राफ्ट के लिए बैंक अनुलिपि मांग पत्र क्षतिपूर्ति पत्र के आधार पर करेगा और बैंक इस हेतु आहर्ता शाखा से गैर भुगतान सूचना के लिए इंतजार नहीं करेगा।

ग्राहक के अनुरोध पर पंद्रह दिनों के भीतर ही अनुलिपि मांग पत्र जारी किया जाएगा। यदि अनुलिपि मां पत्र जारी करने में निर्धारित अवधि से अधिक विलंब हो तो ऐसी देरी के लिए क्षतिपूर्ति के रूप में प्रगामी परिपक्‍वता अवधि के लिए निश्चित जमा पर लागू ब्‍याज का भुगतान करेगा।

 

संग्रहण सेवाएं

संतोषजनक रूप से खाता अनुरक्षण कर रहे व्‍यक्तियों के रु. 20,000 तक के बाहरी चेकों को तत्‍काल जमा किया जाता है। फिर भी ग्राहक को सामान्‍य सेवा प्रभार तथा डाक प्रभारों को वहन करना होगा। चेक अप्रदत्‍त लौटने पर, ग्राहक जिस तारीख से निधियों का उपयोग कर रहा है, उस अवधि के लिए ब्‍याज का भुगतान करेगा।

चेकों के संग्रहण में विलंब होने के संदर्भ में, बैंक की चेक संग्रहण नीति और क्षतिपूर्ति नीति के अनुसार बैंक, ग्राहकों को ब्‍याज का भुगतान करता है। ग्राहक, हमारी वेबसाईट में इन मानदंडों को देख सकते हैं।

ग्राहकों द्वारा जमा किए गए चेकों को समाशोधन में नीचे सूचितानुसार बैंक द्वारा निपटारा किया जाता हे।

उच्‍च मूल्‍य समाशोधन

यह सुविधा पदनामित केंद्रों में चयनित शाखाओं के ग्राहकों को उपलब्‍ध है। उच्‍च मूल्‍य वाले चेक (स्‍थानीय समाशोधन द्वारा गृह निर्णय किए गए अनुसार) का उसी दिन दिन निपटारा होता है।

 

स्‍थानीय समाशोधन

चेकों का निपटारा, चेक/ लिखतों को समय पर केंद्र में जमा करने की शर्त पर किया जाता है।

 

सरकारी देयताओं का संग्रहण

बैंक चयीत पदनामित शाखाओं के माध्यम से भारत सरकार और राज्य सरकारों के पक्ष में विभिन्न करों का संग्रहण कार्य संचालित करता है।

सभी पदनामित शाखाओं में आयकर के लिए “ओल्टास” और उत्पाद शुल्क सेवा कर के लिए ईएएसआईईसटी (EASIEST) कार्यान्वित किया गया है।

प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष करों के ई-भुगतान के लिए अंतर्जाल बैंकिंग सुविधा उपल्ब्ध है।

ग्राहकों की सुविधा के लिए बेंगलूरु, मैसूरु और बल्लारी में प्रत्येक कोषागार शाखा प्रारंभ की गयी है।

 

विद्युन्मान समाशोधन सेवाएं (ई सी एस)

ग्राहक अपने विभिन्न विलों के भुगतान करने हेतु विद्युन्मान समाशोधन (जमा और नामे) सुविधा का सदुपयोग कर सकते हैं।

ग्राहक, आपने लाभांश, वेतन जमा के लिए ईसीएस (ऋण) उपयोग कर सकते हैं। ईसीएस (नामे) अपनी उपभोक्ता बिल, ऋण किस्तों इत्यादि भुगतान करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

 

गंदे/कटे-फटे नोटों का विनिमय

बैंक द्वारा ग्राहकों और अन्यों को मुद्रा विनिमय सुविधा प्रदान की जाती है। इस संबंध में बैंक, भारतीय रिजर्व बैंक के मार्गदर्शनों का पालन करता है। भारतीय रिजर्व बैंक, बैंकों को कटे-फटे नोट जो असली हैं और उस तरह फटे हैं जो फ्राड की शंका नहीं होती है, विनिमय करने की अनुमति देता है। बैंक की सभी शाखाएं गंदे नोटों को नि:शुल्क विनिमय करती है। बैंक की मुद्रा कोष शाखाएं सभी प्रकार के कटे-फटे मुद्रा नोटों का विनिमय करेंगी।

 

प्रमुख शाखाओं में सिक्का डिस्पेंसरों को लगाया गया है।

 

हमारी सभी शाखाओं को ड्यूयल डिसप्ले नोट गिनती मशीनें आपूर्ति की गयी है।

 

सेवा प्रभार

बैंक, ग्राहकों को विभिन्न सेवा प्रदान करता है जिसके लिए सेवा प्रभार लगता है। प्रभार को समय-समय पर समीक्षा/संशोधित करता है।

 

निधियों का संग्रहण और प्रेषण, ऋण प्रस्ताओं का संसाधन, गारंटियों की जारी, सुरक्षा अभिरक्षा, अनुलिपि लिखत/विवरणी, खाता अनुरक्षा इत्यादि के लिए सेवा प्रभार लगाया जाता है।

 

मूलभूत सेवा प्रभारों के विवरणों के बैंकिंग हाल में, बैंक वेबसाईट में प्रदर्शित किये जाते हैं और अनुरोध पर सेवा प्रभारों को उपलब्ध कराया जाता है।

 

स्व-चालित टेलर मशीन (ए टी एम)

बैंक ने ग्राहकों की सुविधा के लिए एटीएम लगाया है ताकि दिन्भर वैलल्पिक सुपुर्दगी सुविधा कुछेक सीमाओं की शर्तों पर प्राप्त हो सके।

’नो फ्रिल बचत बैंक’ खाताओं को छोडकर, सभी व्यक्तिगत बचत खाता और स्वाम्य कारोबार के खाताओं के लिए एटीएम कार्ड जारी किये जाते हैं।

नकद आहरण, शेष पूछताछ और मिनी विवरणिकाओं जैसे बुनियादी सुविधाओं के अलावा निम्नसूचित सुविधाओं को एटीएम द्वारा उपलब्ध कराये जाते हैं :

  • उपभोक्ता (जैसे कि बेसकाम) के बिलों का भुगतान
  • मोबाईल टाप-अप
  • स्टेट बैंक कार्ड भुगतान
  • कार्ड और कार्ड के बीच अंतरण – स्टेट बैंक समूह के भीतर
  • एटीएम पिन बदलना
  • एसबीआई जीवन बीमा प्रिमियम का भुगतान

 

पहले वर्ष के दौरान सेवा प्रभार प्रभारित नहीं किया जाएगा और दूसरे वर्ष से रु.50/-  का वार्षिक सेवा प्रभार प्रभारित किया जाता है।

एटीएम लेनदेन हेतु निम्नसूचित ’हेल्प-लाईन’ की सेवा उपलब्ध है :

(24x7) टोल फ्री संख्या (बीएसएनएल/एमटीएनएल) 1800 11 22 11

अन्य लैण्ड लाईन अथवा मोबाईल 080-26599990

 

इंटरनेट बैंकिंग

सप्ताह के 7 दिन और दिन के 24 घंटे अपने खाते को देखने और परिचालित करने की इंटरनॆट बैंकिंग सुविधा आधारित लेनदेन जो पूर्ण रूप से सुरक्षित है, अब खुदरे और नैगम दोनों ग्राहकों को उपल्ब्ध है।

 

खुदरे ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग को निम्नों के लिए उपयोग कर सकते हैं :

  • ग्राहकों के विविध खाताओं के बीच निधि अंतरण हेतु
  • अन्य पार्टियों के खाताओं को अंतरण
  • खाता विवरणिकाओं को देखने/मुद्रित प्रति पाने
  • स्थायी आदेशों को दर्ज कराने
  • मांग ड्राफ्ट/चैक बुक को आन-लाईन मांग करने हेतु
  • बिल भुगतान सुविधा हेतु

 

नैगम ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग को निम्नों के लिए उपयोग कर सकते हैं :

  • बैंक के भीतर विभिन्न खाताओं के बीच निधि अंतरण हेतु
  • क्रेता और अन्य पार्टियों को भुगतान करने हेतु
  • लेनदेन निर्धारित करने हेतु
  • लेनदेन के अप-लोडिंग हेतु
  • निगम के कर्मचारियों का वेतन जमा हेतु
  • कार्यकारियों को खाताओं को कुछ हद तक परिचालन/मानिटर करने और कुछ हद तक संयुक्त प्राधिकरण में भाग लेने हेतु अनुमति देने
  • करों का ’ई-भुगतान’ (सेवा कर, उत्पाद शुल्क और आयकर)

 

व्यवसाय संसाधन पुनर अभिमुखीकरण के रूप में, सेवाओं में सुधार लाने हेतु, बैंक ने कई ग्राहक केन्द्रित संकल्पनाओं का जारी किया है।

 

चेक ड्राप बक्सा

सभी शाखाओं में चेक ड्राप बक्सा लगाये गये हैं। चेक ड्राप बक्से में, क) स्थानीय/समाशोधन ख) बाहरी और ग) शाखा का स्वयं का लिखतों के लिए तीन रंगी कंपार्टमेंट की व्यवस्था है। तथापि उसे i) क्रेडिट कार्ड भुगतान ii) सरकारी चलाओं के लिखत iii) परक्राम्य और तत्काल जमा के लिए रहे लिखत के लिए नहीं उपयोग किया जाना चाहिए। काऊंटर में प्रस्तुत लिखतों के लिए ग्राहक पावती प्राप्त कर सकता है।

 

ग्राहक मित्रा

चयीत शाखाओं में उत्पाद सूचना उपलब्ध कराने और ग्राहकों को तत्संबंधित स्टाफ के पास निर्देशित करने हेतु ’ग्राहक मित्रा’ सेवा आरंभ की गयी है। ग्राहक मित्रा, ग्राह्कों को स्वयंचालित/वैकल्पिक चैनल जैसे कि एटीएम, चेक ड्राप बक्सा, अंतर्जाल बैंकिंग इत्यादि को अपनाने हेतु सहायता प्रदान करता है।

 

 

निक्षेपागार सेवाएं

हमारे बैंक में 28 जून 2007 से निक्षेपागार सेवाएं प्रारंभ की गयी हैं। इस सेवा का चयीत शाखाओं में एसबीआईसीएपी प्रतिभूति लिमिटेड (एसएसएल) मुंबई के विशेषाधिकार के रूप में डिमैट कम ट्रेडिंग खाताओं को हमारे बैंक के ग्राहकों को मूल्यवर्धित सेवा के रूप में प्रारंभ किया गया। हमारे बैं के ग्राहक हो इंटरनेट के माध्यम से बचत/चालू खाता डीमैट व व्यापारी खाता खोलने के जरिए देश के किसी भी केंद्र से आनलाईन ट्रेडिंग कर सकते हैं।

 

 

टोल फ्री संख्या

बैंक ने टोल फ्री संख्या लगायी है। ग्राहक इस संख्या से संपर्क कर उत्पादों की सूचना प्राप्त कर सकते हैं। सूचना अंग्रेजी, हिन्दी और कन्नड में उपलब्ध है। टोल फ्री संख्या, प्रस्तुत में सुबह 9 बजे से सायं 6 बजे तक उपलब्ध है।

 

बीएसएनएल/एमटीएनएल लाईन – 1800-425-2244

 

अन्य टेलिफोन/मोबाइल फोन सं 080-22300020

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नागरिक चार्टर मुद्रा एवं सरकारी व्यवहार 

 

1. नागरिक चार्टर का मुख्य उद्देश्य : 

 

मुद्रा विनिमय और सिक्के तथा सरकारि जो बैंक द्वारा भारतीय रिज़र्व बैंक के एजेंट के रूप में किया जाता है, के संबंध में स्टेट बैंक ऑफ मैसूर द्वारा उपलब्ध करायी जा रही विभिन्न सेवाओं पर नागरिक चार्टर सूचना उपलब्ध कराता है।

 

2. मुद्रकोष और छोटे सिक्के के डिपो को अनुरक्षित शाखाओं में उपलब्ध सेवाएं : 

 

हमारे बैंक की मुद्रा अनुरक्षण शाखाएं सार्वजनिक सदस्यों को गंदे व कटे-फटे नोट सहित सिक्के जो चालू में नहीं है या कटे-फटे हैं, का विनिमय कर देती हैं। बैंक विनिमय सुविधा को व्यवसाय समय पर काउंटरों में नि:शुल्क उपलब्ध कराता है।

 

3. वितरक की सहायता से नोट और सिक्कों का विनिमय : 

 

सार्वजनिक नोटों के विनिमय के प्रति भी सिक्का वितरक के जरिए सिक्कों को प्राप्त कर सकते हैं जिसे हमारी बेंगलूर शाखा, शिवमोग्गा शाखा और मार्केट शाखा, मैसूर में लगाये गए हैं। ग्राहकों की सहायता की दृष्टि से विनिमय को आसान बनाने के लिए सिक्का वितरक मशीनों को अन्य मुद्रा शेष शाखाओं में भी लगाने का प्रस्ताव है।

 

4. बैंक के सार्वजनिक काउंटरों पर गंदे व कटे-फटे नोटों और सिक्कों का विनिमय :

 

मुद्रा कोष शाखाओं के काउंटरों में सार्वजनिक निम्नलिखित सुविधाओं को स्वयं प्राप्त कर सकते हैं :

 

क)   गंदे नोटों का विनिमय : नोट जो शिथिल या उपयोग में रहने से थोडा फटा रहने या तेल, रंग, स्याही से कुरूप हुए हैं तो गंदे नोट के रूप में समझा जाएगा। विनिमय को आसान बनाने, नोट लंबाई से अथवा बीच में फटा हो तो नोट की संख्या यथा स्थिति में रहने पर ऐसे नोटों में गिने जाएंगे। राजकीय या धार्मिक नारों को लिखे गए नोटों को कभी बदले नही जाएंगे।

ख)   कटे-फटे नोटों का विनिमय : कटे-फटे नोटों में वे नोट आएंगे जिसका एक भाग गायब है या टुकडों में फटा है, बशर्ते कि प्रस्तुत नोट का आधा हिस्सा मात्र नुकसान है, प्रत्येक टुकडों को जोडने पर पता चलता है कि उसी नोट के भाग हैं यदि पदनामित अधिकारी द्वारा (भारतीय रिज़र्व बैंक निर्गम में परिभाषित नोट वापसी) सही पाय जाय।

ग)    प्रचलन में न रहने वाले सिक्कों को नोटों या सिक्कों में विनिमय करना।

 

5. सामान्य सेवा शर्तें :

 

  1. शाखाओं के व्यवसाय समय पर बैंक काउंटरों पर विनिमय सुविधा नि:शुल्क उपलब्ध है।
  2. भारतीय रिज़र्व बैंक नियम (नोट वापसी) के अंतर्गत सौजन्य के रूप में बैंक द्वारा गंदे और कटे-फटे नोटों का विनिमय किया जाएगा। जब गंदे और कटे-फटे नोट नियमों के अंतर्गत भुगतान योग्य न होने पर तिरस्कृतकिया जाएगा और तिरस्कार सूचना निविदाकार को दी जाएगी।
  3. नोट/सिक्के जो जाली पाए जाते हैं, को कुर्क किया जाएगा और कोई मूल्य नहीं अदा किया जाएगा। ऐसे नोट/सिक्कों को प्रस्तुतकर्ता को सूचना जारी करते हुए बैंक के पास रख लिए जाएंगे।
  4. भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी सुरक्षा विशेषताओं को सार्वजनिकों की जानकारी के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक के वेबसाइट http://rbi.org.in/currency/banknotes. html पर दिया जाएगा।
  5. स्टेट बैंक ऑफ मैसूर के स्टाफ और अधिकारी प्रत्येक सार्वजनिकों के साथ सौजन्यपूर्ण व्यवहार करेंगे। स्टाफ, सार्वजनिकों की मदद करेंगे और ग्राहकों की शिकायतों को दूर करने का प्रामाणिक प्रयास करेंगे।
  6. सार्वजनिकस सदस्य बैंक के किसी पदनामित शाखाओं में विनिमय सुविधा प्राप्त करने में कठिनाई महसूस करने के संदर्भ में या इस हेतु रिश्वत की मांग करने पर, वे अपनी शिकायत को शाखाओं में अनुरक्षित शिकायत रजिस्टर में दर्ज कर सकते हैं या संबंधित शाखा के नियंत्रक के ध्यान में ला सकते है।

 

6. भारतीय रिज़र्व बैंक के बचत बांड/सहायता बांड :

 

भारतीय रिज़र्व बैंक के बचत बांड/सहायता बाडों के व्यवहार हेतु बैंक की चयनीत शाखाएं पदनामित हैं। ये शाखाएं, आवेदनों की स्वीकृति, बांडों की जारी, ब्याज का भुगतान और अन्य संबंधित मामलों से जुडे सेवाएं प्रदान करती हैं। नवीनतम आवेदन (संशोधित) इन शाखाओं में उपलब्ध किये जाते हैं।

 

7. सरकारी व्यवहार के लिए समय मानदण्ड :

 

क्र.सं

सेवा स्वरूप

सामान्य आवश्यक समय

1

नकद के साथ प्राप्त चलनों के निपटारा

20 मिनट (मूल्यवर्ग और दिए गए नकद के आधार पर)

2

चेकों के साथ प्राप्त चलनों के निपटारा

  1. अंतरण – उसी दिन
  2. समाशोधन – समाशोधन व्यवस्था के आधार पर 4 दिन

3

स्थानीय समाशोधन सदस्यों के चेकों के साथ प्राप्त चलनों के निपटारा

चेकों के प्राप्ती तारीख से एक दिन बाद

4

बाहरी चेकों के साथ प्राप्त चलनों के निपटारा

  1. एक हफ्ता (चार महानगरों के लिए)
  2. 15 दिन अन्यजगहों पर

5

सरकारी चेकों के द्वारा नकद आहरण

20 मिनट (आहरण मात्रा के आधार पर)

6

सरकारी विभागों को सूची प्रस्तुति

दैनिक आधार पर

7

सरकारी विभागों को मासिक विवरण का प्रस्तुतीकरण

अगले माह के पहले दिन

 

8. हमारे बैंक के काउंटरों पर गंदे और कट-फटे एवं सिक्कों के विनिमय के साथ सरकारी व्यवसायों से संबंधित शिकायतें

 

  1. बैंक ने सभी शाखाओं में गंदे नोटों का विनिमय, नोटों से सिक्के और सिक्कों से नोटों का विनिमय की व्यवस्था की है। कटे-फटे नोटों का विनिमय, मुद्रा कोष शाखा में मात्र उपलब्ध है। शाखाओं को कटे-फटे नोटों के विनिमय सुविधा संबंधी सूचना नामे पट्ट पर प्रदर्शित सूचित किया गया है।
  2. मुद्रा कोष शाखा, राज्य सरकारी व्यवसायी करने वाली शाखा और भारतीय रिज़र्व बैंक के बचत बांड के व्यवहार के लिए प्राधिकृत शाखाओं की सूची के लिए हमारा वेबसाइट देखें।
  3. यदि कोई शाखा, विनिमय का अनुरोध को तिरस्कृत करती है तो सार्वजनिक सदस्य, महा प्रबंधक (परिचालन), स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, प्रधान कार्यालय, के जी रोड, बेंगलूर–560009 को शिकायत कर सकते हैं। यदि शिकायत न हो, तो भारतीय रिज़र्व बैंक के संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय को सूचित किया जा सकता है।
  4. सार्वजनिक सदस्य नागरिक चार्टर के संबंध में यदि कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कृपया निम्नलिखित पते पर भेजें :

 

महा प्रबंधक (वित्‍त एवं सेवाएं)

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर,

प्रधान कार्यालय, केंपेगौडा मार्ग,

बेंगलूर-560 009

सहायक महाप्रबंधक

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर

सरकारी कारोबार विभाग

प्रधान कार्यालय, केंपेगौडा मार्ग, बेंगलूर-560 009, भारत

दूरभाष 91 80 22353901 22353909, विस्तरण : 304 : 22353466

फैक्स 90 80 22259035

ई-मेल : This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

 

 

 

 

 

 





















 

 
 
You are here: होम नागरिक संहिता