State Bank of Mysore

Trusted Service

कृषि योजनाएं

कृषि क्लिनिक्स एवं कृषि व्यवसाय केंद्र (एबीसी 10 दि-30.08.01)
उद्देश्य
  • किसानों को कार्यालय विस्तरण/तकनीकी सेवाएं जैसे कि उगाही रीति, फसल संरक्षण, बाजारी प्रवृत्ति, पशु स्वास्थ्य के लिए क्लिनिकल सेवाएं इत्यादि प्रदान करना।
  • जरूरतमंद किसानों को आंतरिक आपूर्ति स्त्रोत एवं सेवा।
  • कृषि स्नातकों को लाभदायक नियोजन।

पात्रता
कृषि स्नातक / कृषि से संबंद्ध विषय जैसे कि बागबानी, पशुपालन, पशु चिकित्सा, मुर्गी पालन, मत्स्यपालन इत्यादि विषयों में स्नातक।

परियोजना लागत
व्यक्तियों के लिए रू.10 लाख
समूहों के लिए रू.50 लाख
( समूह में पाच लोग हो सकते हैं, जिनमें से एक कृषि स्नातक अर्हता तथा विशेषज्ञना सहित हो)

मर्जिन
15%

ब्याज दर - तथा सीमांत धन
कृषि अग्रिमों को लागू अनुसार

पुनर्भुगतान
5-10 वर्ष, अधिकतम 2 वर्षों की अनुग्रहावधि


सिंचाई हेतु सोलार फोटो वोल्टाइक पंपसेट (एस पी वी)
उद्देश्य
सिंचाई उद्देश्यों के लिए सोलार फोटो वोल्टाइक पंपसेट (एस पी वी) लगाने के लिए प्रवर्तित करने के द्वारा ऊर्जा के पुनः नवीकरण स्रोत।

पात्रता
किसान, अर्थात् छोटे किसान तथा सीमांत कृषक या अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति संवर्ग जिन्होंने अपनी स्वयं के स्रोता में से रू.30,000/- पट्टा शुल्क भुगतान नहीं कर सकते हैं।  (एस पी वी कम क्षमतावाली पंपिंग प्रणाली है जो 1-2 हेक्टेयर मात्र सिंचाई कर सकता है)

ऋण
एस पी वी पंपसेट की स्थापना के लिए किसानों द्वारा वित्तीय मध्यस्तों को दी जाने वाली अप फ्रंट शुल्क की राशि रू 30,000/- के लिए दिया जाता है।

ब्याज दर
लघु सिंचाई को लागू दरें।

पुनर्भुगतान
अधिकतम 10 वर्षों तक

सुविधा
परिसर स्नेही, इंधन/विद्युत, परिचालनीय लागत अपेक्षित नहीं है।

असुविधा
कम क्षमता के कारण गहरे पानी टेबल(12 मीटर्स) के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता।  यह 1-2 हेक्टेयर तक मात्र सिंचाई कर सकता है तथा पंपसेट लागत अधिक है।


कृषि उद्देश्यों के लिए भूमि खरीदने के लिए योजना
उद्देश्य:
भूमिरहित कृषि मजदूर/छोटे किसान/मध्यमान किसानों को बंजर भूमि/कृषि भूमि की खरीदी के लिए।

पात्रता
एस एफ और एम एफ और भूमिहीन मजदूर।  नबार्ड द्वारा सूचितानुसार खरीदी गयी भूमी को भी शामिलकर कुल भूमिधारण निर्धारित भूमि धारणा से अधिक नहीं होना चाहिए।

ऋण की मात्रा
ए टी एल के माध्यम से रू.2 लाखों से ज्यादा नहीं होना चाहिए तथा भू-विकास और सिंचाई के प्रावधान, भूमि लागत के 50% से अधिक नहीं होना चाहिए।

सीमा
20% या भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा समय-समय पर निर्धारितानुसार।

ब्याज
ए टी एल को लागू अनुसार

पुनर्भुगतान
24 महीनों की अधिस्थगन अवधि को शामिलकर 7-10 वर्षो में अर्ध वार्षिकी/वार्षिकी किस्त।


वेनिला विकास के लिए योजना

आईस्क्रीम, चाकोलेट, कोला ड्रिंक्स, आलकोहाल, फार्मा, परफ्यूम और अन्य कनफेंकशनरियों में स्वाद एजेंट के रूप में वेनिला व्यापक रूप से उपयोग किए जाते हैं।  नैसर्गिक वेनिलिन के लिए बडती मांग की दृष्टि से वेनिला के लिए घरेलू/अंतराष्ट्रीय दोनों तरफ से वेनिला के लिए बाजार बड गया है।

उद्देश्य
नारियल, काफी, काली मिर्च, सुपारी इत्यादि जैसे फसलों के साथ अंतर फसल के रूप मे वेनिला की उगाही के लिए।

पात्रता
प्रगतिपरक किसान।  अधिकतम 5 एकड तक वित्तीयन किया जा सकता है।

इकाई लागत

  • प्रस्तुत नारीयल, सुपारी तथा काफी के संमिश्र फसल के साथ प्रति एकड के लिए 500 एकड पर वेनिला फसल लगाने के लिए रु.55,000/- ।
  • प्रति एकड पर रू.15,000/- पर वेनिला फसल (फसल ऋण) का संरक्षण।

पुनर्भुगतान
3 वर्षों की अनुग्रहावाधि को शामिलकर 6 वर्ष।  फसल ऋण-1 वर्ष


जैविक-उर्वरक इकाईयों की स्थापना (माडल योजना)
उद्देश्य
अच्छे गुणवत्ता के जैविक-उर्वरकों के विभिन्न उपजों के उत्पन्न जो समर्थक कृषि उत्पादनों में मूल्यवान है।

पात्रता
कृषि उत्पन्नों के क्षेत्र के उद्यमियों को, विशेषतः परिसर स्नेही तकनीकी को प्रवर्तन में रूचि रखनेवाल उद्यमियों को।

इकाई लागत
150 टी पी ए लगाने के लिए रू.73,473 लाख

ब्याज/प्रतिभूति
भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा निर्धारितानुसार

सहायिकी
कृषि मंत्रालय से 25%

पुनर्भुगतान
अनुग्रह अवधि एक/दो वर्षों को शामिलकर 9 वर्षों तक।

विपणन (पी एम एल) उत्पाद ऋण
उद्देश्य
किसानों को निधि उपलब्ध कराने तथा अपनी उगाही उत्पन्नों की मजबूरन बिक्री में सहायता करने हेतु।

पात्रता
शाखा से फसल ऋण प्राप्त किसान मात्र।

ऋण की मात्रा
रू.10 लाखों की अधिकतम सीमा या उत्पाद मूल्य के 60% जो भी कम हो।
इस ऋण की प्राप्ति को वर्तमान फसल ऋण के तरलता के लिए उपयोग करना है।  उसके बाद यदि किसान द्वितीय फसल ऋण लेता तो फसल ऋण का नवीकरण माना जाता है।

पुनर्भुगतान
1 वर्ष के अंतर्गत

बीमा
स्टाक का मूल्य रू.15,000/- अधिक हो तो बीमा कराया जाना चाहिए।

प्रतिभूति
क) सरकारी स्वामित्व गोदाम/शीतल संरक्षण, के लिए गोदाम रसीदों की बंधक के अलावा कोई प्रतिभूति का आग्रह नहीं करना चाहिए।
ख) निजी गोदाम/ शीतल संरक्षण
1) रू.2 लाखों तक गोदाम मालिक से गारंटी विलेख की प्राप्ति।
2) रू.2 लाखों से अधिक वर्तमान मानदंडानुसार संपार्श्विकी प्राप्त करना है।

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर की नजदीकी शाखा से संपर्क करें, या
मुख्य प्रबंधक
स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
कृषि बैंकिंग विभाग
प्रधान कार्यालय, केंपेगौडा जी मार्ग,
बेंगलूर-560 009, भारत
दूरभाष: 9180 22353901 से 22353909, 22353473 विस्तरण 375,
22353460, फ्याक्स 9180 22283684

 
You are here: होम अग्रिम कृषि योजनाएं