State Bank of Mysore

Trusted Service

Micro and Small Enterprises -MSEs

सूक्ष्म व लघु उद्यम – एम एस ई

सूक्ष्म , लघु व मध्यम उद्यम ( एस एम ई) हेतु ऋण गारंटी निधि न्यास पद्धति (CG

सूक्ष्म व लघु उद्यम (एम एस ई) को ऋण 

खुदरा व्यापार – खुदरा व्यापारियों को अग्रिम (उर्वरक व खनिज तेल के अलावा)

एम एस ई-- सेवा क्षेत्र (लघु व्यवसाय उद्यम)-Retail Business 

व्यावसायिक और स्व-नियोजित व्यक्ति 

परिवहन परिचालक 

लघु उद्यमी क्रेडिट कार्ड पद्धति 

महिला उद्यमियों हेतु स्त्री शक्ति पैकैज 

माईबैंक संचारी सुविधा - होटल,रेस्तराँ व लौज को वित्त 

अन्नपूर्णा --- खाद्य प्रबंध एकल स्थापित करने हेतु महिलायों के वित्तपोषण हेतु पद्धति 

मेरा बैंक डाक्टर -  चिकित्सालय/परिचर्या गृह स्थापित करने हेतु डाक्टरों व चिकित्सा वृतिकों को सहायता देने हेतु नया उत्पाद 

लचीला (एस एस आई) अवधि ऋण 

एस एम ई ॠण प्लस 

ग्रीन आटॊ 

स्वरोजगार क्रेडिट कार्ड पद्धति

मेरा बैंक व्यावसायिक प्लस

कारीगर क्रेडिट कार्ड (ए सी सी )

एस एस आई व सी व आई उधारकर्ताओं हेतु आपाती साख पंक्ति (आवधिक ऋण)

आवधिक ऋण के तहत प्रतिपूर्ति सुविधा :( एस बी आई व सी व आई खंड उधारकर्ता)

“सूर्यदीप व गृह प्रकाश प्रणाली वित्तपोषण करने हेतु पद्धति

राईस मिल प्लस

ठेकेदार प्लस

ए सी सी सीमेंट व्यापारी हेतु श्रॄंखलाबद्ध वित्तपोषण

Top


सूक्ष्म व लघु उद्यम ( एम एस ई)-सूक्ष्म,लघु व मध्यम विनिर्माण व सेवा खंड की परिभाषा

 

 

विनिर्माण क्षेत्र

सेवा क्षेत्र

सूक्ष्म उद्यम

संयंत्र और मनीशरी में निवेश (वास्तविक कीमत)  रू25 लाख से ज्यादा न हो ।

उपस्कर में निवेश रू.10 लाख से ज्यादा न हो ।

लघु उद्यम

संयंत्र और मनीशरी में निवेश (वास्तविक  कीमत )रू25 लाख से ज्यादा हो किन्तु रू.500लाख से ज्यादा न हो ।

उपस्कर में निवेश रू. 10 लाख से ज्यादा हो किन्तु रू200 लाख से ज्यादा न

हो |

मध्यम उद्यम

संयंत्र और मनीशरी में निवेश (वास्तविक  कीमत )रू500 लाख से ज्यादा हो किन्तु रू.1000लाख से ज्यादा न हो ।

उपस्कर में निवेश रू. 200 लाख से ज्यादा हो किन्तु रू500 लाख से ज्यादा न

हो |


Top


सूक्ष्म व लघु उद्यमों के लिए ऋण गारंटी निधि न्यास पद्धति(सी जी टी एम एस ई)

सी जी टी एम एस ई संयुक्त रूप से भारत सरकार एवं सिडबी द्वारा स्थापित किया गया था ।

यह पद्धति सूक्ष्म एवं लघु उद्यम के सभी नए एवं वर्तमान एककों के लिए उपलब्ध है।

यह पद्धति विनिर्माण क्षेत्र एवं सेवा क्षेत्र दोनों के तहत उपलब्ध है।

योग्य ऋण सीमा रू.100.00 लाख तक है।

अन्य पक्ष गांरटी समर्थक भी नहीं ।

सूक्ष्म उद्यमों को रू.5.00 लाख तक का ऋण ,अधिकतम गारंटी कवर डिफाल्ट में राशि का 85% होगा|

अधिकतम रू.4.25 लाख और महिला उद्यमियों द्वारा संचालित रू50 लाख तक की ऋण सुविधा के लिए एमएस ई को ऋण डिफाल्ट में राशि का 80% तक कवर कर रहे हैं ।

अधिकतम रू40लाख।

अधिकतम गारंटी कवर जहाँ उधार सुविधा रू 5 लाख से अधिक रू50 लाख तक है,डिफाल्ट में राशि का 75% है । अधिकतम रू.37.50लाख।

पहली संवितरण तारीख/माँग सलाह तारीख जो भी पहले हो,उससे एक महीने भीतर एक समय अग्रिम गारंटी फीस का भुगतान किया जाना है और वार्षिक सेवा शुल्क ॠण सुविधा पर निर्दिष्ट दर से ट्रस्ट को हर साल मई 31 के पहले भुगतान किया जाना है ।

सूक्ष्म व लघु उद्यम के लिए ऋण(एम एस ई)

योग्यता

एम एस ई(एम एस ई) को बढावा देने के इच्छुक कोई भी व्यक्ति/साझेदारी/सार्वजनिक या   निजी लि० कंपनियाँ जिनका संयंत्र और मशीनरी में रू.5 करोड से अधिक न हो और मध्यम उद्यमों जिनका संयंत्र व मशीनरी में रू. 5  करोड से अधिक एवं 10 करोड तक का निवेश हो ।

वित्त की सीमा

आवश्यकता आधारित ( निधि आधारित एवं गैर निधि आधारित दोनों )

सीमा

कार्यकारी पूँजी /मध्यावधि ॠण

क) रू.25000/- तक कोई सीमा नहीं

ख)रू.25000/-के ऊपर ॠण सीमा

लचीला रूख: प्रत्येक मामले के श्रेय पर आधारित 15%--25%

प्रतिभूति प्राथमिक :

1)बैंक वित्त से निर्मित आस्तियाँ

संपार्श्विक प्रतिभूति प्राप्ति से छूट

रू 5लाख तक

अच्छे कार्य निष्पादन रिकार्ड एवं संतोषजनक वित्तीय स्थिति पर आधारित,रू5 लाख के ऊपर और रू25  लाख तक।

बैंक के निर्णय पर रू25 लाख के ऊपर ब्याज।

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार।

वित्त निर्यात

-         साख पत्र की स्थापना

-         पूर्व लदान वित्त

-         लदानोत्तर वित्त

-         शुल्क वापसी के खिलाफ सहायता ऊपर

Top


रीटेल व्यापार – रीटेल व्यापारियों के लिए अग्रिम (उर्वरक एवं खनिज तेल के अलावा )

योग्यता

सभी प्रकार के रीटेल व्यापारी योग्य है । रीटेल व्यापार,उचित मूल्य की दूकान,उपभोक्ता सहकारी भंडार शुरू करने प्रस्ताव रखने वाले व्यक्ति भी वित्त के लिए पात्र है।

वित्त की सीमा

ऋण सीमा रू 20 लाख तक

ब्याज की दर

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार सीमा

रू.25000/- तक कोई सीमा नहीं

रू.25000/- से अधिक ऋण सीमा के लिए 15से 25 प्रतिशत

प्रतिभूति

बैंक वित्त से निर्मित आस्तियाँ

बैंक के मानक के अनुसार संपार्श्विक प्रतिभूति

लघु व्यापार उद्यम -सेवा क्षेत्र

योग्यता

व्यावसायिक सेवाओं के अलावे कोई अन्य सेवा प्रदान करने हेतु मुख्यत: स्थापित व्यापार उद्यम का प्रबंध करने वाला व्यक्ति एवं फर्म ।

वित्त की सीमा

कार्यकारी पूँजी हेतु वैयक्तिक सीमा लक्षित क्रिया-कलापों की अपेक्षाओं के आधार पर निर्धारित किया जाएगा । नौका घरों के अधिग्रहण,निर्माण,नवीकरण एवं अन्य पर्यटक आवास के लिए अग्रिम वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस श्रेणी के तहत खनिज तेल के वितरण हेतु अग्रिम पर भी विचार किया जाएगा।

ब्याज दर

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार

सीमा

रू25000/- तक कोई सीमा नहीं

रू. 25000/- से अधिक ऋण सीमा के लिए 15 से 25 प्रतिशत ।

प्रतिभूति

बैंक वित्त से निर्मित आस्तियाँ

बैंक के मानक के अनुसार संपार्श्विक प्रतिभूति ।

Top


व्यावसायिक व स्व-नियोजित व्यक्ति

योग्यता

दंत चिकित्सक सहित चिकित्सा पेशाधारी,वृत्तिशील कंपनी सचिव,वकील या प्रतिवक्ता,इंजीनियर,आर्किटेक्ट,सर्वेक्षक,निर्माण ठेकेदार या प्रबंधन सलाहकार

वित्त की सीमा

व्यावसायिक एवं स्व-नियोजित व्यक्ति रू.10 लाख की सहायता हेतु योग्य है जिसमें से रू.2 लाख से ज्यादा की कार्यकारी पूँजी की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए । तथापि व्यावसायिक रूप से योग्य चिकित्सा  पेशाधारी,के मामलें में अर्धशहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अभ्यास करने हेतु कार्यकारी पूँजी सीमा हेतु रू15 लाख तक की वित्तीय सहायताहोगी।

ब्याज दर

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार

सीमा

रू25000/- तक कोई सीमा नहीं

रू. 25000/- से अधिक ऋण सीमा के लिए 15 से 25 प्रतिशत ।

प्रतिभूति

बैंक वित्त से निर्मित आस्तियाँ

बैंक के मानक के अनुसार संपार्श्विक प्रतिभूति ।

परिवहन संचालक

योग्यता

छोटी सडक और जल परिवहन संचालकों को अग्रिम

वित्त की सीमा

रू.200 लाख से अधिक नहीं

ब्याज दर

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार

सीमाएँ

रू.25000/- तक कोई सीमा नहीं ।

रू. 25000/- से अधिक ऋण सीमा के लिए 15 से 25 प्रतिशत ।

प्रतिभूति

बैंक वित्त से निर्मित आस्तियाँ

बैंक के मानक के अनुसार संपार्श्विक प्रतिभूति ।

Top

लघु उद्यमी क्रेडिट कार्ड पद्धति

योग्यता

छोटे व्यवसायी,रीटेल व्यापारी, कारीगर,छोटे क्षेत्र में मिलाकर छोटे औद्योगिक इकाईयों एवं स्व-नियोजित व्यक्ति जिन्हें रू. 10 लाख तक की सीमा की कार्यकारी पूँजी प्राप्त है ।

सीमा

आयकर /बिक्री कर रिटर्न में घोषित वार्षिक बिक्री कारोबार के 20% पर निर्धारित ।

व्यावसायिक एवं स्व-नियोजित व्यक्ति,अपने आयकर् रिटर्न में घोषित किये गये सकल वार्षिक आय के 50% ॠण सीमा के पात्र है ।

(प्रचलन के मूल्यांकन के मानदंड नायक समिति के सिफारोश के अनुसार है ।

रू 2लाख के ऊपर एवं रू 10 लाख तक की ईकाईयों के लिए स्कोरिंग माडल विधि का पालन किया जाएगा ।

60% से अधिक स्कोर पाने वाले इस पद्धति के पात्र के तहत आने के पात्र होंगें ।

प्राथमिक प्रतिभूति

व्यापार,प्राप्तियों,मशीनरी,कार्यालय उपकरण में स्टाक को दृष्टिबंधक रखना,

संपार्श्विक प्रतिभूति

बैंक द्वारा तय किये गये के अनुसार

सीमा

25%

वैद्यता

3 साल के लिए वैद्य।अर्ध वार्षिक समीक्षा खाते में पिछले 12 महीने के कारोबार के आधार पर किया जाएगा ।

ब्याज दर

समय समय पर प्रचलित दरों के अनुसार

बीमा

रू 25000/- तक की सीमा के लिए बीमा कवर माफ कर दिया गया है ।

 

महिला उद्यमी के लिए स्त्री शक्ति पैकेज

एक या अधिक महिला उद्यमी द्वारा संचालित लघु उद्योग इकाई जिनका जोखिम ईक्विटी के 51% से कम नहीं हो ।

 

इस पैकैज की महत्वपूर्ण विशेषतायें हैं-

 

ऎसे उद्यमी जो राज्य स्तरीय एजेंसियॊं या बैंक द्वारा प्रायोजित ई पी डी कर चुके हैं वे ही वित्तीय सहायता के योग्य हैं ।

 

ऎसी महिलायें जो एक बडे पैमाने पर काम नहीं करना चाहती बल्कि अपने घर से काम करना चाहती है,उन्हें शाखा प्रबंधक और फील्ड स्टाफ आवश्यक जानकारी व सहायता प्रदान करेंगें ।

 

मार्जिन में छूट

खुदरा व्यापारी

रू में प्रवर्ग सीमा स्तर

मार्जिन छूट

रू 5000/-से अधिक तथा रू.25000/-तक

शून्य

रू 25000/-से अधिक तथा रू.1.0/-लाख तक

5.00%

बिजनेस इंटरप्राइजेज

रू में प्रवर्ग सीमा स्तर

मार्जिन छूट

रू.25000/-तक

शून्य

रू.25000/-से अधिक तथा रू.1.00 लाख तक

5.00%

पेशागत व स्व नियोजित महिला

रू में प्रवर्ग सीमा स्तर

मार्जिन छूट

रू.25000/-तक

शून्य

रू 25000/-से अधिक

5%

एस एस आई

रू में प्रवर्ग सीमा स्तर

मार्जिन छूट

रू.25000/-तक

शून्य

रू 25000/-से अधिक

5%

 

ब्याज में छूट

एस एस आई इकाईयों के संबंध में जिनकी सीमा रू 25000/- से रू.2/- लाख तक है,उसे कोई ब्याज छूट नहीं ।

रू.2लाख से रू.25 लाख तक,अनुप्रयोज्य दर से 0.50% कम ।

इस योजना के अंतर्गत लघु व्यापर उद्यम के लिए ब्याज दर अनुप्रयोज्य दर से 0.50%.

पेशागत एवं स्व-नियोजित व्यक्ति को 0.50%.

 

Top


मैबैंक संचारी सुविधा

योग्यता

व्यक्तिगत/पार्टनरशीप/कंपनी

प्रयोजन

होटल,रेस्तरा व लाज के संस्थापना/विस्तरण/विकल्प/पुनर्निर्माण के लिए ।निर्माण के लिए ऋण पर विचार किया जाएगा वशर्तें कि भूमि प्रोप्राईटर/पार्टनर/कंपनी के नाम में होगा-

  • फर्निशिग/फ्लोरिंग/टाईलिंग/पेंटिंग
  • वुडवर्क/इंटीरियरिंग डेकोरेशन/सेनिटरी वर्क.
  • एयर कंडीशनिंग/ऎयर कूलिंग उपकरण
  • फीटिंग,जेनेरेटर,फर्निचर,फिक्सचर व परदें की बिक्री।
  • इलेक्ट्रिक गजेट व उपकरण,टी वी,वाटर कूलर इत्यादि की बिक्री ।

 

वित्त की सीमा

आवश्यकता आधारित रू.20 लाख तक ।

 

ॠण का प्रकार

संमिश्र सावधि ॠण

 

भुगतान अवधि

5 से 7 वर्ष-6 महीने की अधिस्थगन अवधि को शामिलकर

ब्याज दर

प्रचलित दर के अनुसार

 

मार्जिन

संरचना, आंतरिक डेकोरेशन ,वुडवर्क के लिए 33%

 

अन्य प्रयोजन-25%

 

प्राथमिक प्रतिभूति

बैंक वित्त से निर्मित फर्निचर,फिक्सचर आदि आस्तियों का दृष्टिबंधक,

 

संपार्श्विक प्रतिभूति

अचल संपत्ति का समान बंधक.ऎसे संपार्श्विक का मूल्य ॠण प्रमात्रा का 1.5 गुणा होना चाहिए ।

इस योजना को कुछ चयित शाखाऒं में कार्यान्वित किया गया है ।

 

 

 

अन्नपूर्णा-खाद्य केटरिंग इकाईयों के लिए महिला वित्तयन की योजना

योग्यता

महिला(व्यक्तिगत एवं पार्टनरशीप फर्म दोनों)

 

प्रयोजन

टिफिन/खाना/ लंच पैक इत्यादि की बिक्री के लिए खाद्य केट्रिंग ईकाई बनाने के लिए ।

वित्त का विस्तार

रू.50000/- का अधिकतम ऋण

 

ऋण का प्रकार

संमिश्र सावधि ऋण(सी टी एल के ५०% के अंदर कार्यकारी पूँजी प्रभाग)

ऋण का प्रयोजन

सावधि ऋण के प्रभाग को बरतन,गैस कनेक्शन, रेफरिजेरेटर,  मिक्सर ग्राईन्डर,हाटकेस ,टिफिन बाक्स,वर्किंग टेबल इत्यादि की खरीद के लिए उपयोग किया जा सकता है ।

 

पुनर्भुगतान

36 महीने का मासिक किस्त-6 महीने की अधिस्थगन अवधि को शामिलकर

 

मार्जिन

10%

व्याज की दर

चालू दर के अनुसार

प्रतिभूति

बैंक ऋण से बने आस्तियों का दृष्टिबंधक

गारंटी

बैंक को अनुप्रयोज्य एक गारंटर

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर के निकटतम शाखा को संपर्क करें या

मुख्य प्रबंधक

लघु व मध्यम उद्यम विभाग

प्र.का.के जी रोड,बेंगलूर-560009,भारत

दू.91 80 22353901 से 09

ईमेल: This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

Top


मैबैंक डाक्टर

आज की पीढी उच्च स्वास्थ्य केंद्रित है ।प्रति दिन अच्छे क्लीनिक / नर्सिंग होम की माँग बढ रही है । इस पृष्ठभूमि में,योग्य/पंजीकृत चिकित्सापेशाधारी /होम्योपैथिक /आयुर्वेदिक डाक्टर/डेन्टिस को अच्छी सुविधा/ अच्छे उपकरण के साथ क्लीनिक / नर्सिंग होम बनाने के लिए ऋण योजना बनायी गयी है जिससे जनता को उन्नत स्वास्थ्य सुविधा मिल सके।

इस योजना की मुख्य विशेषतायें निम्न प्रकार है-

प्रयोजन

-          क्लीनिक / नर्सिंग होम बनाने के लिए/एक वाहन की खरीद,

-          चिकित्सा पेशा से संबंधित अन्य क्रिया कलाप एवं फर्नीचर, फिक्सचर,

उपकरण जैसे एम्बुलेंस,वैन,एक्सरे लैब,पालिक्लीनिक, पैथोलोजिकल लैब इत्यादि

की खरीद के लिए,

-          अर्ध शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में,क्लीनिक बनाने हेतु भवन निर्माण के लिए ऋण को बढाया जा सकता है ।

-          अन्य केन्दों में पेशाधारकों को सामान्यत: किराया आधार पर परिसर लिया जा सकता है ।

ऋण की प्रमात्रा

  1. 1) अर्ध शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में: अधिकतम ऋण रू. 15 लाख है जिसमें से रू. 3लाख से अधिक कार्यकारी पूँजी नहीं होनी चाहिए ।
  2. 2) शहरी एवं महानगरों में: अधिकतम ऋण रू. 15 लाख है जिसमें से रू. 3लाख से अधिक कार्यकारी पूँजी नहीं होनी चाहिए ।

मार्जिन:

रू. में श्रेणी सीमा

मार्जिन छूट

रू.25000/-तक

शून्य

रू.25000/-से अधिक तथा रू.2.00लाख

10.00%

रू.2.00लाख से अधिक रू.15.00 लाख

20.00%

ब्याज की दर: प्रचलित दरों के अनुसार

भुगतान  अवधि

प्रस्तावित क्रियाओं के लिए आय संरचना को ध्यान में रखते हुए भुगतान अवधि

को नियत किया गया है।सामान्यत:: भुगतान अवधि 5 से 7 वर्षों की होती है जिनकी शुरू की अवधि 6 महीनों की होती है ।

प्रतिभूति :

) प्राथमिक

बैंक वित्त जैसे उपकरण/मशीन,वाहन इत्यादि से अर्जित सभी आस्तियों का दृष्टिबंधक एवं वित्त प्रद्त्त भवन का दृष्टिबंधक ।

)संपार्श्विक

  1. 1) रू. 10.00 लाख तक कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं ।
  2. 2) रू.  10.00 लाख से अधिक ॠण के लिए किसी व्यक्ति का वैयक्तिक गारंटी, अचल संपत्ति जैसे बैंक का जमा,एन एस सी,एल आई सी पालिसी हमारे अग्रिम एवं संपार्श्विक प्रतिभूति को पूरा करने में पर्याप्त है ।फिर भी, जब अचल संपत्ति की प्राथमिक प्रतिभूति द्वारा अग्रिम को पूरा किया जाता है तो कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं पूछा जाएगा ।

 

बीमा

रू.25000/- तक बीमा माफ है ।रू.25000/-से अधिक ऋण के लिए सामान्य जोखिम के प्रति बीमा शामिल है ।

निरीक्षण

तिमाही

प्रक्रिया प्रभार

कोई प्रक्रिया प्रभार नहीं(छूट)

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर के निकटतम शाखा को संपर्क करें या

मुख्य प्रबंधक

लघु व मध्यम उद्यम विभाग

प्र.का.के जी रोड,बेंगलूर-560009,भारत

दू.91 80 22353901 से 09 विस. 377

ईमेल: This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

 

फ्लेक्सी (एसएसआई) सावधि ऋण


उद्देश्य:
शुद्ध कार्यशील पूंजी का चयन किसी भी निचले स्तर के व्यावसायिक उद्देश्य, पूंजीगत व्यय, अनुसंधान एवं विकास व्यय, भूमि के अधिग्रहण और भवन निर्माण, उन्नयन और कार्यालयों के नवीकरण जैसे किसी भी वास्‍तविक व्‍यावसायिक उदेश्‍य के लिए होगा।

पात्र समूह:
कम से कम 3 साल और जिनके खातों के लिए नकद लाभ के रिकार्ड के साथ सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के उधारकर्ताओं मानक आस्तियों के रूप में वर्गीकृत किया गया हो।

ब्याज की दर:
प्रचलित दरों के अनुसार


ऋण के प्रकार: सावधि ऋण


ऋण और  भुगतान शर्तों की राशि:
अधिकतम 50 लाख रुपये


पुनर्भुगतान : 3 से 5 साल में पुनर्भुगतान

सुरक्षा:

 

वर्तमान/स्‍थिर संपत्ति का विस्‍तार/ अचल संपत्ति और वर्तमान संपार्श्विक पर शुल्‍क में वृ्द्धि

 

--------------------------------------------------------------------------------------------------------------


एसएमई क्रेडिट प्लस

उद्देश्य:
सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के उधारकर्ताओं के आकस्मिक जरूरतों को पूरा करना।

पात्रता:
सुक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यमों ऋणी जिनका पिछले लगातार 2 सालों से एक अच्छा रिकॉर्ड रहा है ऐसे बडे, स्‍थिर और ईमानदार उद्यमी।

ब्याज दर: कैश क्रेडिट सीमा के अनुसार लागू

ऋण का प्रकार: :पूर्णत नकद ऋण

ऋण और भुगतान शर्तों की राशि::
कुल कार्यशील पूंजी का 20%, अधिकतम सीमा 25 लाख रुपए।

प्रत्येक राशि के भुगतान 2 महीने के भीतर और अगले वापसी से 15 दिन के अंतराल के साथ प्रतिदेय होगी।

प्रतिभूति
प्राथमिक:  शून्य (स्वच्छ रूप में माना सीमा)

संपार्श्विक मौजूदा संपार्श्विक का एक्सटेंशन

 

.....................................................................................................................

ग्रीन ऑटो
उद्देश्य:
एलपीजी/सीएनजी किट की स्थापना के लिए ऑटोरिक्शा मालिकों को वित्तपोषण करने हेतु योजना।

पात्रता:
आवश्यक परमिट रखने वाले वाणिज्यिक वाहनों की मौजूदा कर्जदार। अन्य बैंकों द्वारा वित्तपोषित वाहन पात्र नहीं होंगें। हालांकि, जिनके खातों को अन्य बैंकों ने ले लिया है ऐसे उधारकर्ताओं सुविधा का लाभ लेने के लिए अनुमति दी जाती है। वित्त के लिए विचारणीय

सभी खातों में मानक आस्तियाँ होनी चाहिए।

ब्याज की दर:
प्रचलित दरों के अनुसार

ऋण के प्रकार::सावधि ऋण

ऋण की राशि:

किट की कुल लागत, अधिकतम 25000 रुपये होने पर ।

पुनर्भुगतान की शर्तें:
अन्य बैंकों से वित्त पोषण किये गये खातों के मामले में 24 महीने के लिए सावधि ऋण 36 महीनों में प्रतिदेय होगी।

सुरक्षा:
वाहन का दृष्टिबंधक ।

 

.....................................................................................................................

 

स्वरोजगार क्रेडिट कार्ड योजना:
उद्देश्य:
लचीले, छोटे कारीगरों,  हथकरघा बुनकरों, सेवा क्षेत्रों, मछुआरों, स्वरोजगार करने वाले व्यक्तियों, रिक्शा मालिकों, अन्य सूक्ष्म उद्यमियों आदि (स्‍वयंरोजगारियों ) को पूंजी, आंशिक पूंजी अथवा दोनों काम कर रहे उद्यमियों को सहजता से और लागत प्रभावी ढंग से पर्याप्त और समय पर ऋण प्रदान करना।
पात्रता:
छोटे कारीगरों, हथकरघा बुनकरों, सेवा क्षेत्र, मछुआरों, रिक्शा मालिकों की तरह अन्‍य स्वरोजगार करने वाले व्यक्तियों, अन्य सूक्ष्म उद्यमी इसके लिए पात्र होगे।

ऋण का प्रकार: स्‍वयंरोजगारियों को क्रेडिट कार्ड जारी कर  

सीमा:
रु.25000 / - ऋण लेने के प्रति समग्र ऋण और शाखाओं के रूप में प्रत्येक मामले की योग्यता के आधार पर भी उच्च सीमा पर विचार कर सकते है।

वैधता:
स्वरोजगार क्रेडिट कार्ड सरल समीक्षा प्रक्रिया के माध्यम से वार्षिक संतोषजनक खाते का संचालन करना और जो 5 साल के लिए  सामान्य रूप से मान्य होगा।

 

.....................................................................................................................

 

मैबैंक प्रोफेशनल प्‍लस
उद्देश्य:
स्वरोजगार व्यावसायिक (डॉक्टरों के अलावा अन्य) के कार्यालयों की स्थापना के लिए , विस्तार, सामान्य प्रयोजन सावधि ऋण सहित उपकरणों की खरीद करना, मौजूदा कार्यालयों का नवीकरण, आधुनिकीकरण, कंप्यूटर की खरीद, वाहनों आदि को वित्तपोषण करने के लिए एक योजना।
पात्रता:
व्‍यवसाय में वृद्धी करने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट , इंजीनियर, आर्किटेक्ट, वकील आदि को, आवश्यक योग्यता रखने वाले अधिकारी या पेशेवर अनुभव रखने वाले सभी स्वरोजगार पेशेवर इस योजना के तहत वित्तीय सहायता प्राप्‍त करने के लिए पात्र हैं।
ब्याज की दर:
प्रचलित दरों के अनुसार


ऋण के प्रकार: समग्र सावधि ऋण


ऋण की राशि:
न्यूनतम राशि 50000 / - रुपये और अधिकतम राशि 10 लाख रुपये है।
भुगतान:


6 महीने की शुरू की अवधि के साथ सामान्‍यत: 5 से 7 साल तक।
सुरक्षा:


1) प्राथमिक सुरक्षा: बैंक ऋण और वित्त पोषण के निर्माण के बंधक के बाहर का अधिग्रहण सभी परिसंपत्तियों का दृष्टिबंधक
2) कोलेटरल सिक्योरिटी: 2 लाख रुपए की सीमा तक जमानत सुरक्षा नहीं होंगी, 5 लाख रुपये की सीमा तक . प्राप्त करने के लिए पर्याप्त साधन के साथ एक व्यक्ति से की गारंटी । टीडीआर, एनएससी, पर्याप्त समर्पण मूल्य 5 लाख रुपये से ऊपर की सीमा के लिए अग्रिम समावेश के साथ एलआईसी पॉलिसी की तरह अचल संपत्ति या अन्य प्रतिभूतियों की मूर्त जमानत सुरक्षा।
मार्जिन :

उद्देश्य

दर

नई मशीन/उपकरण के लिए

15 %

भवन/(वाणिज्यिक प्रयोजन के लिए)

30 %

कारीगरों क्रेडिट कार्ड (एसीसी)
उद्देश्य:
एक लचीला परेशानी मुक्त और लागत प्रभावी ढंग से अपने ऋण आवश्यकताओं (अर्थात, कार्यशील पूंजी/निवेश की जरूरत) को पूरा करने के लिए कारीगरों को पर्याप्त और समय पर सहायता प्रदान करन।

पात्रता:
उत्पादन/निर्माण प्रक्रिया में शामिल सभी कारीगरों पात्र होंगे।
पसंद विकास आयुक्त (हस्तशिल्प) के साथ पंजीकृत कारीगरों को दिया जाएगा।
सहायता समूह (एसएचजी) में शामिल होने वाले कारीगरों के समूहों के वित्त पोषण पर बल दिया जाएगा
सरकार के अन्य प्रायोजित ऋण योजनाओं के लाभार्थि एसीसी योजना के तहत समावेश के लिए पात्र नहीं हो
ऋण के प्रकार: कारीगरों को क्रेडिट कार्ड जारी करके
सीमा: प्रति ऋणी को अधिकतम 2.00 लाख रुपये

वैधता अवधि :
कारीगर क्रेडिट कार्ड सामान्य रूप से खाते और वार्षिक समीक्षा प्रक्रिया के संतोषजनक संचालन को देखते हुए 3 साल के लिए मान्य होगा।
सुरक्षा:

हायपोथिकेशन के रूप में बैंक ऋण के अलावा शेयरों/संपत्ति पर दृष्टिबंधक की प्राथमिक सुरक्षा । 2.00 लाख रुपये तक कोई  सीमा नहीं होगी।
मार्जिन:

राशि

दर

25000 / -रुपये तक की सीमा के लिए

शून्य

25000/ -रुपये से अधीक सीमा के लिए

25 %

ब्याज की दर:
प्रचलित दरों के अनुसार
बीमा:
इस योजना के तहत लाभार्थियों को स्‍वत: ही समूह के तहत समाविष्‍ठ किया जाएगा। बीमा योजना और किस्‍त उधारकर्ता के खाते से वसूल की जाऐगी।

Top


 सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों और सीएण्‍डआइ उधारकर्ताओं के लिए क्रेडिट (टी/एल) की स्‍टैड बाई लाइन

उद्देश्य:
मशीनरी के अधिग्रहण और विस्तार, आधुनिकीकरण करने आदि के अन्य पूंजीगत व्यय की तरह किसी भी वास्‍तविक उद्देश्य को पूरा करने के लिए।

पात्रता:
सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों और सी और आइ उधारकर्ताओं एसबीएम -3 और अधिक का ही मूल्यांकन किया गया।

ब्याज की दर:
एसएमई सेगमेंट के तहत टर्म लोन में लागू.

ऋण के प्रकार: सावधि ऋण

ऋण की राशि:
50 लाख रुपये की अधिकतम सीमा के साथ पिछले 2 वर्ष की नकदी स्त्रोतों की सीमा तक है। लघु उद्योग इकाइयों के लिए और सी और आई इकाइयों के लिए 200 लाख रूपये तक होगी ।

 

पुर्नभुगतान  शर्तें:
कैश जनरेशन सर्कल के अनुसार 3 से 5 साल वर्षों में मासिक/तिमाही किस्तों में ।

सुरक्षा:
1 ) प्राथमिक सुरक्षा: बैंक ऋण से बाहर का अधिग्रहण सभी परिसंपत्तियों का दृष्टिबंधक
2) कोलेटरल सिक्योरिटी: स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा तय निर्धारिता नुसार।

मार्जिन: :सावधिक ऋण के अनुसार लागू

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Top


 

 

सावधि ऋणों के तहत प्रतिपूर्ति की सुविधा:(एसआईबी और सी और आइ खंड उधारकर्ताओं के लिए)
उद्देश्य:
एक वर्ष की अवधि (परिवहन ऑपरेटरों को छोड़कर) के भीतर किए गए पूंजीगत खर्च के लिए प्रतिपूर्ति की सुविधा प्रदान करने की योजना
पात्रता:
मौजूदा एमएसई और सी और आई ऋणी
ब्याज की दर:
वर्तमान एमएसई और सी और आइ खंडों के अनुसार सावधि ऋण के लिए लागू ।

ऋण का प्रकार: सावधि ऋण

सुरक्षा:


1 ) प्राथमिक सुरक्षा: बनाया पूंजी आस्तियों का दृष्टिबंधक|
2) कोलेटरल सिक्योरिटी : के रूप में स्वीकृति प्राधिकरण द्वारा तय|



मार्जिन : सावधिक ऋण के अनुसार लागु

अन्य नियम व शर्तें :


1) उत्‍पादक/डीलर द्वारा जारी किए गए मूल बिल और रसीद|
2) चार्टर्ड अकाउंटेंट के प्रमाण पत्र के संबंध में व्यय निर्माण/निर्माण के लिए किए गए|

.....................................................................................................................

सूर्यदीप’’: वित्तपोषण सौर हायपोथिकेशन  प्रणाली की योजना


उद्देश्य:
सोलर होम लाइटिंग सिस्टम की खरीद के लिए ऋण सुविधा उपलब्ध कराने के लिए योजना

क्षमता

लगभग मूल्य

18 वैट

रु.9000 / -

37 वैट

रु.16000 / -से  रु.18000 / तक

74वैट

रु.26000 / -से  रु.28000 / तक


पात्रता:
30000 / - रुपये प्रति वर्ष की दर से एमएसई और एजीआर खंड उधारकर्ताओं की आय

ब्याज की दर: प्रचलित दरों के अनुसार

ऋण के प्रकार: सावधि ऋण

सुरक्षा:
1 ) प्राथमिक सुरक्षा: तैयार पूंजी आस्तियों का दृष्टिबंधक
2) जमानत सुरक्षा: राशि के लिए अच्छा उपयुक्त गारंटर

मार्जिन : 10 %

पुनर्भुगतान : 60 माह में प्रतिदेय

जेस्टेशन अवधि : 2 महीने

Top


राईस मिल प्लस

हमने उदारीकृत दृष्टिकोण अर्थात कम मार्जिन,उपलब्ध काराये गये संपार्श्विक के संबंध में   कम ब्याज दर के साथ राईस मिल प्लस नामक एक नया उत्पाद पेश किया है।योजना अच्छा कार्य-निष्पादन रिकार्ड वाले वर्तमान सभी इकाईयों को सम्मिलित और अधिग्रहण मानकों के अनुपालन में  इकाईयों के अधिग्रहण को परिकल्पित की गयी है ।नी इकाईयों को भी मामले दर मामले के आधार पर शामिल किया जा सकता है ।

हमनें सरलीकृत स्कोरिंग माडल को अपनाया है ।

रू. 5.00 लाख तक एवं सम्मिलित सीमा संपार्श्विक मुक्त होनी चाहिए और सीजीटीएमएस ई के तहत कवर किया जाना चाहिए ।ऎसे अग्रिमों के लिए व्याज दर 9% प्रतिवर्ष है ।

कांट्रेक्टर प्लस

बी बी एम पी,सभी नगर निगमों ,जिला परिषदों,बीड्ब्ल्यूएसएसबी एवं कर्नाटक राज्य के सभी अन्य सांविधिक निकायों के कार्य बिलों का निधियन करने हेतु एस एम ई खंड के तहत कांट्रेक्टर प्लस  को पेश किया गया है वशर्ते वह त्रिपक्षीय करार से सहमत हैं।एल सी के बदले त्रिपक्षीय करार द्वारा बिलों का समर्थन किया गया है ।

अपने निकटतम  स्टेट बैंक ऑफ मैसूर की शाखा या मुख्य प्रबंधक से संपर्क करें :-

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर

लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग

प्र.का.,के जी रोड,बेंगलूर-560009

फोन 918022353901से 22353909;22353473

वि. 377,  फैक्स: 918022353458ईमेल : This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

Top



 

एसीसी सीमेंट व्यापारियों के लिए चैनल वित्तपोषण

पात्रता:
एमएसई और एजीआर खंड उधारकर्ताओं,  प्रति वर्ष 30000 /- रुपये की आय

वित्त प्रमात्रा :10 लाख रुपये अधिकतम. सी और आई खंड के तहत निर्धारित मानदंडों के अनुसार क्रेडिट सीमा 10 लाख रूपये से अधिक रूप में मानी जाएगी।

उद्देश्य:
डीलर द्वारा दिए गए आदेशों के अनुसार सीमेंट की आपूर्ति का प्रतिनिधित्व करने, अपनी रसीद पर, एसीसी द्वारा उठाए गए चालान/बिल का तत्काल भुगतान करने के लिए। भुगतान डीलरों को नकद ऋण खाते से डेबिट करने के लिए प्रभावित होगा। इसलिए डेबिट की राशि डेबिट होने की तिथि से 21 दिनों के भीतर डीलर द्वारा पूर्ण की जानी चाहिए।

सुरक्षा : कुछ नहीं

ब्याज की दर: प्रचलित दरों के अनुसार
दोषी पाये जाने पर: नियत तारीख के भीतर डेबिट की राशि समाप्त करने में विफल रहने पर डीलर शाखा तुरंत खाते का संचालन करेगी। जबकि सीमेंट की आगे की आपूर्ति को रोकने की सलाह एसीसी कंपनी देगी। इसके अलावा आपरेशन/रिलीज करने के लिए कंपनी द्वारा विशिष्ट सिफारिश पर अनुमति दी जाएगी। हालांकि, चूक के मामले में सुविधा वापस लिया जाना दूसरी बार के लिए होता है |


 

 
You are here: होम अग्रिम सूक्ष्म व लघु उद्यम – एम एस ई