State Bank of Mysore

Trusted Service

अनिवासी भारतीय सेवाएँ > अनिवासी भारतीय जमाएँभारतीय जमाएँ

भारत एशिया में त्वरित से विकास हो रहे देशों में से एक हैं । अनिवासी भारतियों को बैंक, जमा के अवसर पर उपलब्ध करता है । स्टेट बैंक ऑफ मैसूर अपने पास जमा हेतु आपका स्वागत करता है । विûव के सभी भागों में पत्राचार संपर्क जाल रखनेवाला यह बैंक, देश के सभी महत्वपूर्ण स्थानों में अपना केद्र रखता है । स्टेट बैंक ऑफ मैसूर आपकी सुविधानुसार आपकी सभी आवश्यकताएं पूरी करता है और अनिवासियों के लिए विशेष योजना रूपित किया है।

कुछ उल्लेखनीय खातें :
अनिवासी (विदेशी) खाता -  एन आर ई खाता
  • अनिवासी (विदेशी) रुपये खाते को, बचत खाता / चालू खाता / मीयादी खाता / पुनर्निवेश जमा खाता के रूप में खोला जाएगा ।  मीयादी जमा / पुनर्निवेश जमाएँ 1 वर्ष से 3 वर्ष की अवधि के लिए अनुमत है ।
  • अनिवासी विदेशी खाताएँ, विदेश से विप्रेषण अथवा वर्तमान अनिवासी (विदेशी) खाते से निधि अंतरण द्वारा औंर अथवा विदेशी मुद्रा (अनिवासी) खाताओं से परिपक्वता के उपरांत खोला जा सकता है ।  कथित खाता, अनिवासी भारतीय भारत को भेंट के दौरान के समय विदेशी मुद्रा नोटों / यात्री चेकों को जमा करते हुए भी खाता खोला जा सकता है।
  • अनिवासी खाताओं को, संयुक्त अथवा पृथक रूप से खोला जा सकता हैं, यदि सभी को अनिवासी अधिकार प्राप्त हो तो ।  
  • अनिवासी भारतीय, मुख्तरनामा (पॅवर ऑफ अटार्नी) अथवा प्राधिकार पत्र (लेटर ऑफ अथॉरिटी) द्वारा, अपने स्थानीय प्रतिनिधि को अपने बैंक खाते को मात्र स्थानीय भुगतान  के लिए परिचालित कर सकते हैं ।
  • अनिवासी (विदेशी) रुपये खाते के आय का मूल धन औंर ब्याज, परिवर्तनीय मुद्रा द्वारा आसानी से प्रति देय हैं ।
  • यूनिट ट्स्ट ऑफ इंडिया के यूनिट, केद्र औंर राज्य सरकार की प्रतिभूतियाँ तथा राष्ट्रीय बचत पत्रों को अनिवासी (विदेशी) रुपये खाता व्दारा खरीदे जा सकते हैं ।  अनिवासी (विदेशी) रुपये खाता द्वारा खरीदे गए उपरोक्त प्रतिभूतियों के परिपक्वता आय को प्रति देय सुविधा के साथ अनिवासी (विदेशी) खाते में जमा किया जाएगा ।
  • जमा राशि तथा उपचित ब्याज के साथ पुनर्निवेश जमा तथा मीयादी जमाओं के प्रति, 90% तक ऋण उपलब्ध हैं ।
विदेशी मुद्रा (अनिवासी) खाता- एफसीएनआर खाता
  • एफ सी एन आर मीयादी जमा / पुनर्निवेश खाताएँ नामित मुद्रा द्वारा यानी, अमेरिकी डॉलर, पॉऊण्ड स्टरलिंग औंर यूरो व्दारा खोला जा सकता हैं ।
  • ये जमाएँ, विदेश से प्राप्त जमाकर्ता के विप्रेषणों से अथवा वर्तमान अनिवासी (विदेश) रुपये खातों से निधि अंतरण व्दारा अथवा अनिवासी भारतीय अपने भारत को भेंट के समय लाए गए विदेशी विनिमय में से जारी किया जा सकता है ।
  • जमा राशि तथा उपचित ब्याज के साथ विदेशी मुद्रा अनिवासी जमाओं के प्रति, 85% तक ऋण रुपये खाताओं में उपलब्ध हैं ।
  • जमा मुद्रा में ही ब्याज का भुगतान किया जाएगा ।  वर्तमान विनिमय दर के हिसाब से भारतीय रुपये में परिवर्तित किया जाएगा ।
  • न्यूनतम ज़मा राशि होगी -  1000 अमेरिकन डॉलर, 1000 पॉऊण्ड स्टरलिंग,1000 यूरो


अनिवासी सामान्य रुपये खाता -  एन आर ओ खाता
  • रुपयों में वास्तविक लेनदेन को निष्पादित करने के उद्देश्य से, भारतीय रिजर्व बैंक के अनुमोदन के बिना, अनिवासी व्यक्तियों / संस्थानों के नाम खाता खोले जाते हैं ।
  • इस खाते को, भारत के एक निवासी के साथ संयुक्त रूप से खोला जा सकता हैं ।
  • एक अनिवासी भारतीय के स्थानीय निधि, यानी भाडा, लाभांश, ब्याज, बिक्री, प्रतिभूतियों से प्राप्त आय, संपत्ति, आदि को इस खाते में जमा किया जा सकता हैं ।
  • अप्रतिदेय आधार पर किए गए निवेशों से अर्जित आय को एन आर ओ खाते में जमा किया जा सकता है ।
अनिवासी भारतीय जमाओं के प्रति ऋण
  • एन आर ई / एन आर ओ / एफ सी एन आर / एन आर एन आर जमाओं के प्रति भारतीय रुपयों के जमाकर्ताओं को ऋण उपलब्ध है ।
  • आहरित राशि पर मात्र ब्याज प्रभारित होता है ।
  • मासिक अंतराल पर ब्याज का नामे ।
  • ऋण चुकौती, विदेशी मुद्रा एवं भारतीय रुपयों में किया जा सकता है ।
  • एन आर ओ / एन आर ई / एफ सी एन आर / एन आर एन आर जमाओं के प्रतिभूति पर अन्य पार्टी ऋण दिया जा सकता है ।

टॉप


एन आर आई आवास ऋण
पात्रता

क)    

  • भारतीय पासपोर्ट धारक अनिवासी भारतीय ।
  • भारतीय मूल व्यक्ति, विदेशी पासपोर्ट धारक ।

ख)    कम से कम दो वर्ष से विदेश में नियुक्त हुआ हो और वर्तमान में एक वैध नियोजन ठेका / कार्य अनुज्ञप्ति धारक हो, जिसका न्यूनतम निवल मासिक आय रुपए 20,000/- हो ।

ऋण राशि :
45 वर्ष तक आयु के व्यक्यों के लिए निवल मासिक आय का 48 गुना औंर 45 वर्ष से ऊपर आयु के व्यक्तियों के लिए निवल मासिक आय का 36 गुना बशर्तें कि कुल चुकौती दायित्व उनके एन एम आई / एन ए आई का 50% पार नहीं होना चाहिए ।

उद्देश्य :
निर्माण / नया घर / फ्लैट अधिग्रहण करना / वर्तमान घर का नवीकरण / परिवर्तन / विस्तरण

मार्जिन :
i)पंजीकरण लागत, स्टैंम्प प्रभार आदि के साथ आवास हेतु निर्माणार्थ जमीन की कुल खरीद राशि का 20% प्रतिशत राशि, विदेश से अथवा एन आर ई / एफ सी एन आर / एन आर एन आर / एन आर ओ खाते से अंतरण द्वारा, विप्रेषित किया जाय ।
ii)नया अथवा पुराना घर / फ्लैट खरीदने अथवा घर / फ्लैट का निर्माण हेतु सुख सुविधाएं, पंजीकरण, स्टैंम्प प्रभार आदि सम्मिलित कर कुल लागत का 15% ।
iii) मरम्मत / नवीकरण के लिए परियोजना लागत का 20% ।

चुकौती :
i)     18 महीनों का चुकौती अवधि सम्मिलित कर 180 महीनें ।
ii)     घर का निर्माण कार्य की समाप्ति पर अथवा ऋण का पहला किस्त वितरण से 18     महीनों के बाद, जो भी पहले हो, से चुकौती आरंभ होगी ।
iii)    चुकौती, विदेश से विप्रेषण अथवा एन आर ई / एफ सी एन आर / एन आर ओ     खाताओं से अंतरण द्वारा होगी ।
iv)    भाडा आय, अगर कोई हो, ऋण चुकौती मेंअंतरित किया जाएगा ।
v)    स्थायी रूप से भारत लौट जाने पर स्थानीय स्त्रोतों से चुकौती किया जा सकता है।

आवास गृह हेतु अस्थिर ब्याज दर दिनांक 01.01.2008 से प्रभावी होंगी।  नियत ब्याज दर में कोई परिवर्तन नही है।

स्थायी (नियत) ब्याज दर
चुकौंती अवधि
ब्याज दरें (%)
(10.4.2008 से लागू)
5 वर्षों तक
12.75
5 वर्षों से अधिक औंर  15 वर्षों तक
12.75
15 वर्षों से ऊपर के लिए कोई निश्चित दर नहीं हैं

ब्याज की अस्थिर दरें (01.04.2008 से प्रभावी) : 

चुकौती अवधि रु. 20 लाख तक (सीमा) रु. 20 लाख से ऊपर (सीमा)
5 वर्षों को शामिलकर एवं तक पीएलआर से नीचे 3.25% 10.00 प्रति वर्ष पीएलआर से नीचे 3.00% 10.25 प्रति वर्ष
5 वर्ष से ऊपर एवं 10 वर्षों तक (शामिलकर) पीएलआर से नीचे 3.00% 10.25 प्रति वर्ष पीएलआर से नीचे 2.75% 10.50 प्रति वर्ष
10 वर्ष से ऊपर एवं 15 वर्षों (शामिलकर) पीएलआर से नीचे 2.75% 10.50 प्रति वर्ष पीएलआर से नीचे 2.75% 10.50 प्रति वर्ष
15 वर्षों से ऊपर एवं 20 वर्षों को शामिलकर पीएलआर से नीचे 2.75% 10.50 प्रति वर्ष पीएलआर से नीचे 2.50% 10.75 प्रति वर्ष
20 साल से ऊपर एवं 25 वर्षों को शामिलकर पीएलआर से नीचे 2.75% 10.50 प्रति वर्ष पीएलआर से नीचे 2.50% 10.75 प्रति वर्ष

टॉप


आर एफ सी खाता (निवासी विदेशी मुद्रा खाता)
एक अनिवासी भारतीय, विदेश में लगातार एक वर्ष तक की न्यूनतम अवधि के लिए रुक कर, दिनांक 18.04.92 तक या उपरांत भारत लौटकर, भारत के निवासी बनकर, एन आर ई / एफ सी एन आर खाताओं के आय के किसी भी अनुमत मुद्रा व्दारा निवासी विदेशी मुद्रा बचत बैंक अथवा मीयादी जमा खाता (भारत लौंटने के 30/90 दिनों के भीतर) खोल सकता हैं।  यह राशि, अपने लिए अथवा आश्रितों के किसी वास्तविक उद्देश्य के लिए प्रति देय किया जा सकता हैं ।  जमा अवधि, 91 दिनों से 2 वर्ष तक होगी औंर न्यूनतम जमा राशि 1000 अमेरिकी डालर अथवा किसी भी अनुमत मुद्रा की सममूल्य होगी ।


निवासी विदेशी मुद्रा (देशी) खाता
पात्रता
भारत के निवासी, करेंसी नोट, बैंक नोट औंर यात्री चेकों व्दारा, एक प्राधिकृत विक्रेता के साथ, निवासी विदेशी मुद्रा (देशी) खाता खोल सकता हैं, संभाल सकता हैं और अनुरक्षण कर सकता है ।

खाता का स्वरूप :
सिर्फ ब्याज रहित चालू खाते में ।

परिचालन :
निम्नसूचित विशेष रूप से उल्लेखित स्त्रोतों से करेंसी नोट, बैंक नोट और यात्री चेकों के रूप में उपार्जित विदेशी विनिमय :
1  भारत के बाहर किसी स्थान पर भेंट देते समय, किसी व्यवसाय से उत्पन्न या भारत के भीतर कुछ भी न करने के कारण, सेवाओं के लिए भुगतान के रूप में एक व्यक्ति व्दारा उपार्जित विदेशी विनिमय ।
2  किसी भी व्यक्ति जो भारत का निवासी न हो और जो भारत को भेंट पर आया हुआ हो, मानदेय या उपहार या प्रस्तुत सेवाएँ या किसी वैध दायित्व के भुगतान के रूप में किया गया हो ।
3  भारत से बाहर, किसी जगह को भेंट देते समय मानदेय या उपहार के रूप में ।
4विदेश दौरा हेतु प्राधिकृत व्यक्ति व्दारा उपार्जित विदेशी विनिमय में से, अव्ययी राशि को प्रतिनिधित्व विदेशी विनिमय ।

खाता इन कारणों के लिए अनुरक्षण किया जा सकता है -  
1     वर्तमान विदेशी विनिमय विनियमों के अनुसार, चालू / पूँजीगत लेखा लेन- देन में भुगतान।

2     रुपयों का भुगतान ।

चैक बुक सुविधा
अच्छा पिछला कार्य निष्पादन रिकार्ड रखने वाले आर एफ सी (देशी) खाते के ग्राहकों को चेक बुक सुविधा अनुमत है ।
अनुमोदित उद्देश्यों के लिए मात्र चेकों को जारी करने हेतु ग्राहक को एक वचन पत्र देना पडता है ।  वे भुगतान करने के 7 दिनों के भीतर, पूर्ण विवरण प्रस्तुत करते हुए, फार्म 1 / ए 2 में एक आवेदन प्रस्तुत करना पडता है ।:

करेंसी अमेरिकी डालर :
न्यूनतम शेष :
अमेरिकी डालर -  1000 -  बिना चेक बुक सुविधा
अमेरिकी डालर -  5000 -  चेक बुक सुविधा के लिए

अधिकतम शेष :
कोई सीमा नहीं

प्रभार :

  • खोलते / जमा करते समय, आर एफ सी (देशी) खाते में, विदेशी मुद्रा राशि जमा करते समय, ग्राहक से 0.125% के दर पर, न्यूनतम रु 50/-  को कमीशन के रूप में वसूल किया जाएगा ।
  • न्यूनतम शेष अनुरक्षण न करने के कारण 10 अमेरिकी डालर प्रति वर्ष दण्ड प्रभारित किया जाएगा ।
  • चेक बुक सुविधा के खाताओं को 10 अमेरिकी डालर का सेवा प्रभार तथा 10 पन्नों का प्रति चैक बुक के लिए 10 अमेरिकी डालर प्रभारित किया जाएगा ।

अनिवासी भारतीय खाता धारकों को उपलब्ध सुविधाएँ :
1. अनिवासी (विदेशी) / विदेशी मुद्रा अनिवासी / अनिवासी अप्रतिदेय जमा पर अर्जित
ब्याज, भारतीय आय कर से मुक्त है ।
2.  अनिवासी (विदेशी) / विदेशी मुद्रा अनिवासी / अनिवासी अप्रतिदेय जमाओं में
निवेशित निधि, संपत्ति कर से मुक्त है ।
3. अनिवासी (विदेशी), विदेशी मुद्रा अनिवासी जमाएँ उपहार कर से मुक्त है ।
4. अनिवासी अप्रतिदेय जमाएँ एक बार मात्र उपहार कर से मुक्त हैं, अगर हिताधिकारी एक अनिवासी भारतीय हैं ।
5. सभी अनिवासी भारतीय खाताओं के लिए नामांकन किया जा सकता है ।
6. अनिवासियों के लिए भी सुरक्षा जमा लॉकर सुविधा उपलब्ध है ।
7. प्रतिदेय एवं अप्रतिदेय के आधार पर (भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशनों के अधीन) भारतीय कंपनियों के शेयर एवं डिबेंचरों में निवेश करना अनुमत है ।
8. अनिवासी भारतियों के लिए फ्लैट / घर की लागत की 80% तक आवास वित्तीयन ।
9. विदेश में नौंकरी मिलने पर, निवासियों को आगे की सफर की लागत भरने हेतु ऋण सुविधा ।


अधिक जानकारी हेतु कृपया संपर्क करें -

मुख्य प्रबंधक
स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
अंतर्राष्ट्यी बैंकिंग विभाग
प्रधान कार्यालय, बेंगलूर -  560009
टेलीफोन -  918022353901 से 22353909, 22383473 विस्तरण 379
फैक्स -  918022283684
ई-मेल – This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

 
You are here: होम अनिवासी सेवाएं अनिवासी भारतीय जमाएँ